आगरा, जागरण संवाददाता। महापंचायत के बाद सक्रिय हुई पुलिस ने लव जिहाद का शिकार बनी किशोरी को बुधवार सुबह बरामद कर लिया है। आरोपित को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। अब किशोरी का मेडिकल कराया जा रहा है। इधर इंस्‍पेक्‍टर इरादतनगर को भी एसएसपी ने हटा दिया है। इस मामले को लेकर करीब 50 गांवों के लोगों में जबरदस्‍त आक्रोश था।

इरादत नगर कस्बा में रहने वाली एक 14 वर्षीय किशोरी को कस्बा में रहने वाले बंटी खान ने बंटी त्यागी बनकर अपने जाल में फंसाया था। 11 सितंबर को वह किशोरी को अगवा कर ले गया था। स्वजन के मुकदमा दर्ज कराने के बाद भी पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही थी। मंगलवार को इसको लेकर रहलई गांव में महापंचायत हुई। यहां भारी संख्या में लोग पहुंचे और रोड जाम कर दिया। ग्रामीणों में पुलिस के कार्रवाई न करने को लेकर आक्रोश था। वे इंस्पेक्टर इरादतनगर को हटाने की मांग कर रहे थे। ग्रामीणों के आक्रोश को देखते हुए मंगलवार को ही पुलिस ने दबिश देकर मुकदमे में नामजद पवन और अपहरण में सहयोग करने वाले बंटी खान के छह स्वजन व रिश्तेदार गिरफ्तार कर जेल भेज दिए थे। ग्रामीणों ने किशोरी की बरामदगी को चौबीस घंटे का अल्टीमेटम दिया था। एसएसपी ने किशोरी की बरामदगी को सात टीम लगाई थीं। रात में ही इंस्पेक्टर इरादत नगर सूरज प्रकाश का तबादला कर दिया। उन्हें इंस्पेक्टर निबोहरा बनाया है। इरादत नगर में इंस्पेक्टर क्राइम के पद पर विनोद कुमार की तैनाती हुई है। एसएसपी बबलू कुमार ने बताया कि बुधवार सुबह किशोरी को बरामद कर आरोपित भी गिरफ्तार कर लिया है। किशोरी का मेडिकल कराया जा रहा है। आरोपित का अपहरण में सहयोग करने वाले अन्य आरोपितों को भी गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा।

ये था मामला

इरादतनगर कस्‍बे से बीती 11 सितंबर को सुबह पांच बजे एक किशोरी घर से टहलने को निकली थी। रास्‍ते में इसे एक अल्‍पसंख्‍यक समुदाय का युवक अपने साथ बातों में लगाकर ले गया। प्रत्‍यक्षदर्शियों ने किशोरी के परिजनों को सूचना दी। पड़ताल में निकला कि आरोपित युवक बंटी खान है, जो कस्‍बे में ही एक मेडिकल स्‍टोर पर नौकरी करता था। परिजनों ने थानेे में मुकदमा दर्ज कराया। लेकिन पुलिस ने इस दिशा में कोई कार्रवाई नहीं की। क्षुब्‍ध होकर परिजनों ने अपने समाज के लोगों से संपर्क किया। इस पर त्‍यागी महासभा ने मंगलवार को महापंचायत का ऐलान कर दिया। इस इलाके में त्‍यागी समाज से संबंधित करीब 50 गांव हैं। मंगलवार को सुबह से ही ट्रैक्‍टर ट्रॉलियों में भरकर लोग इरादतनगर में जुटने लगे। करीब दो हजार से ज्‍यादा लोग गांव में जुट गए थे। इतनी संख्‍या में लोगों को देखकर पुलिस के भी हाथ-पैर फूल गए। भीड़ को हटाने के लिए पुलिस ने हल्‍का बल प्रयोग किया तो लोगों का गुस्‍सा और भड़क गया। 

 

Edited By: Prateek Gupta