आगरा, जेएनएन। दीपावली के दिन घर से सैकड़ों किलोमीटर दूर मुंबई की युवती काल का शिकार हो गई। हादसा आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे पर हुआ। भूलवश रास्ता भटक जाने पर कार आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे पर पहुंच गई और तेज रफ्तार में डिवाइडर से जा टकराई। दुर्घटना इतनी भीषण थी कि कार के परखच्चे उड़ गए। कार में बैठी मुंबई की युवती की मौके पर ही मौत हो गई। उसके शव को बमुश्किल बाहर निकाला जा सका। उसकी साथी दोस्त और ड्राइवर गंभीर रूप से घायल हैं।

दीपावली पर जब हर घर में खुशियां मनाए जाने की तैयारी थी। रविवार दोपहर आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर तेज धमाके की आवाज सुनकर आसपास के गांवों के लोग दौड़कर पहुंचे। मौके पर मारुति बलीनो कार दुर्घटना का शिकार बन चुकी थी। ये हादसा आगरा के थाना डौकी क्षेत्र में हुआ। आगरा लखनऊ एक्सप्रेस के किलोमीटर 11 के करीब बलीनो कार तेज रफ्तार में डिवाइडर से टकराने के कारण पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो चुकी थी। ग्रामीणों ने कार से शायली पुत्री इकनाथ पवार और स्मृति नाईक पुत्री प्रमोद नाईक को किसी तरह बाहर निकाला। जबकि शहीदा हर्ष नैन (28 वर्ष) की मौके पर ही मौत हो चुकी थी। ड्राइवर आकाश निवासी दिल्ली भी दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल हुआ है। शायली गंभीर रूप से घायल है, जबकि स्मृति के मामूली चोटें आई हैं। दुर्घटना के बाद युवतियों का बुरा हाल था। ड्राइवर आकाश ने बताया कि वह इन तीनों को लेकर दिल्ली से आगरा आ रहा था। भूलवश यमुना एक्सप्रेस वे से उतरने की बजाय आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर चढ़कर हादसे का शिकार हो गया। घायलों को आगरा के हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। यूपीडा कर्मचारियों ने युवतियों के परिजनों को सूचना दे दी है।

 

Posted By: Prateek Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप