जागरण टीम, आगरा। शमसाबाद के रेलवे क्वार्टर में गोली चलने से हुई 10वीं के छात्र की मौत के मामले में पुलिस ने दोस्त के विरुद्ध हत्या का मुकदमा दर्ज किया है। दोस्त से पूछताछ में पुलिस को कई जानकारियां मिली हैं। पुलिस उसके टूटे मोबाइल से भी सुराग तलाश रही है।

फीरोजाबाद के बसई मुहम्मदपुर के सलेमपुर निवासी 10वीं के छात्र सोनवीर की बीते शुक्रवार को कनपटी पर गोली लगने से मौत हो गई थी। वह अपने गांव के दोस्त उपेंद्र के साथ बाइक से उसके मित्र और रेलवे में प्वाइंटमैन सुरेंद्र के रेलवे कालोनी स्थित क्वार्टर पर आया था। पुलिस को शव के पास से देसी पिस्टल भी बरामद हुई थी। घटना के बाद उपेंद्र ने खुद को निर्दोष बताया। वहीं सोनवीर के पिता निरपति सिंह ने उपेंद्र पर बेटे की हत्या का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया है। एसओ शमसाबाद राकेश कुमार यादव ने बताया कि घटना के बाद उपेंद्र ने अपना मोबाइल तोड़ दिया था। उससे इस बाबत पूछताछ की जा रही है। उसके मोबाइल से डाटा रिकवर किया जा रहा है। जल्द ही असलियत सामने आ जाएगी। घर से नाराज होकर गई छात्रा का यमुना नदी में मिला शव

जागरण टीम, आगरा। मां की डांट से घर से नाराज होकर गई 11वीं की छात्रा का शव यमुना नदी के किनारे समोगर घाट पर मिला। पुलिस ने खुदकुशी की बात कही है। एत्मादपुर के दलेलनगर निवासी सुरेंद्र सिंह सिकरवार जूता फैक्ट्री में मजदूर हैं। उन्होंने बताया कि 24 फरवरी को उनकी पत्‍‌नी नीलम ने पढ़ाई को लेकर 15 वर्षीय बेटी साक्षी को डांट दिया था। इससे नाराज होकर वह घर से चली गई। तब से चिंतित स्वजन उसकी तलाश कर रहे थे। शनिवार सुबह 11 बजे सूचना मिली कि किशोरी का शव यमुना नदी में मिला है। उन्होंने समोगर घाट पर पहुंच शव की शिनाख्त की। बताया कि बेटी ने यमुना में कूदकर जान दी है। 11वीं की छात्रा साक्षी पढ़ाई में काफी होशियार थी। चार बहनों में वह तीसरे नंबर की थी। उससे छोटा भाई भी है। साक्षी की मौत से स्वजन का रो रोकर बुरा हाल है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप