आगरा, जागरण संवाददाता। शहर के सबसे बड़े सितारा होटल अमर विलास से एक फर्जी अधिकारी को हिरासत में लिया गया है। शातिर होटल में मुफ्त खाना चाहता था। फर्राटेदार अंग्रेजी बोलकर शातिर ने होटल के जीएम को प्रभाव में ले लिया था। होटल में दोबारा पहुंचने पर कर्मचारियों को शक हुआ तो पुलिस को सूचित कर दिया।

मामले के अनुसार 13 जून को सौम्यजीत सान्याल नाम का व्यक्ति आगरा कैंट रेलवे स्टेशन पर ट्रेन से उतरा। पहुंचते ही सीधा डीआरएम से मिलने पहुंच गया। डीआरएम को उसने अपने व्यक्तित्व एवं अंग्रेजी से प्रभाव में ले लिया। अधिकारी होने की बात बताकर डीआरएम से रेलवे गेस्ट हाउस भी बुक करा लिया। डीआरएम ने उसे गेस्ट हाउस तक स्कॉर्पियो गाड़ी से छुड़वाया भी। इसके बाद शाम को होटल अमर विलास में कुछ काम होने की बात डीआएम से फोन पर कही। डीआरएम ने स्कॉर्पियो से ही उसे वहां तक छुड़वा भी दिया। शातिर का खेल अभी यहीं खत्म नहीं हुआ था। फिल्मी अंदाज में शातिर होटल के जीएम से मिला। बांग्ला देश और भारत के राष्ट्रपति, सचिवालय के अधिकारी, दिग्गज नेताओं के फोटो की फोटो स्टेट दिखाकर जीएम को अपने प्रभाव में ले लिया। रात का खाना होटल में खाने के बाद नौकर के लिए दाल चावल भी पैक करवाए। शातिर का खेल अभी यहीं नहीं रुका था। उसका ड्रामा इतना वास्तविक था कि होटल के जीएम ने अपनी ऑडी कार से उसे गेस्ट हाउस तक भिजवाया। शुक्रवार को शातिर फिर होटल पहुंचा तो होटलकर्मियों को कुछ शक हुआ। उन्होंने पूछताछ की और कहा कि पिछला पांच हजार रुपए के बिल का भुगतान करे। इसी बात पर दोनों ओर से झिक झिक होने लगी। होटलकर्मियों ने पुलिस को सूचित कर दिया। पुलिस के पहुंचते ही शातिर पहले तो अंग्रेजी में रौब दिखाने लगा फिर अचानक बीमारी का बहाना करने लगा। पुलिस अपने साथ उसे थाने ले आई। पुलिस पूछताछ में खुद को पश्चिम बंगाल का रहने वाला बता रहा है। बार बार पता बदलने के कारण पुलिस ने उसके खिलाफ धारा 419 और 420 में मुकदमा दर्ज कर उसे जेल भेज दिया है।  

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Tanu Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस