आगरा, जेएनएन। मौसम का भी अजब रंग है। रविवार की सुबह बदली-बदली नजर आई। दिसंबर जैसा घना कोहरा, होली से ठीक पहले आगरा समेत पूरे ब्रज में छाया हुआ मिला। कोहरा भी इतना घना कि दृश्‍यता शून्‍य जैसी स्थिति। यकीन ही नहीं हो पा रहा था कि रातों-रात किस कदर मौसम में ये बदलाव आया है। कई वर्षों के बाद ब्रज में ये हाल है कि बीच में गर्मी दिखाकर सर्दी ने होली तक डेरा जमा रखा है। बच्‍चे इस बार स्‍वेटर पहनकर होली खेलेंगे।

साल 2020 के साथ ब्रज में लोगों ने मौसम के अजब रंग ही देखे हैं। फरवरी के मध्‍य में जहां तापमान 30 डिग्री से ऊपर पहुंच गया था। वहीं मार्च में बारिश और ओलों ने तापमान में फिर गिरावट दर्ज कराई है। रविवार की सुबह अलग रही। घना कोहरा छाया हुआ था। दृश्‍यता शून्‍य जैसा हाल। सुबह सैर करने निकले लोग चौंक गए। सर्दी की विदाई की बेला में ऐसा कोहरा देखकर मन मस्‍ताना हो गया। चाय की चुस्कियां कोहरे के बीच चलीं। इधर हाईवे पर वाहन रेंगते हुए से चले। यमुना एक्‍सप्रेस वे और लखनऊ आगरा एक्‍सप्रेस वे पर भी वाहनों की रफ्तार थमी सी रही। मथुरा, मैनपुरी और कासगंज में भी कोहरा छाया हुआ है। हालांकि कासगंज में तो शनिवार रात 10 बजे ही कोहरा छा गया था। मौसम विभाग के मुताबिक आगरा में रविवार को अधिकतम 27 डिग्री और न्‍यूनतम 13 डिग्री सेल्सियस तापमान रहेगा।

होली पर रहेगी ठंडक

कई वर्षों के बाद ब्रज में होली पर ठंडक रहेगी। बीते कई सालों से होली तक गर्मी हो जाती थी। ठंडे पानी से होली खेलने से लोग परहेज नहीं करते थे। इस बार बारिश और ओलों ने ठंड को देर तक रोके रखा है। पेरेंट्स परेशान हैं कि बच्‍चों को होली पर धमाल करने से कैसे रोकेंगे। इसके लिए स्‍वेटर और जैकेट पहनाकर होली खिलाने की तैयारी है।

मैनपुरी में हादसा

शनिवार देर रात घने कोहरे के कारण दिल्ली से इलाहाबाद जा रही लीडर रोड डिपो की बस जीटी रोड पर कुरावली क्षेत्र के ग्राम शरीफपुर के निकट पलटी। बस में 32 यात्री सवार थे, गनीमत रही कि किसी के कोई चोट नही लगी है। सभी यात्रियों को दूसरी बस से आगे के लिए रवाना किया गया।

 

Posted By: Prateek Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस