एटा, जेएनएन। एक ही परिवार के पांच लोगों की डेथ मिस्ट्री धीरे-धीरे अब सुलझती जा रही है। जांच-पड़ताल में यह माना जा रहा है कि दिव्या ने अपने हाथ की नस घटना वाले दिन नहीं बल्कि इससे चार दिन पहले भी काटी थी। यह वाकया बुलबुल ने मथुरा जनपद के गोवर्धन के रहने वाले अपने दोस्त अंकित को मैसेज भेजकर बताया था। पुलिस इन मैसेजों की छानबीन कर रही है, जिससे काफी कुछ निकलकर सामने आया है।

24 अप्रैल को रात के वक्त शहर के मुहल्ला श्रंगार नगर में रिटायर्ड फार्मासिस्ट राजेश्वर प्रसाद पचौरी और उनकी पुत्रवधू दिव्या, दो नाती आरुष और आरव तथा दिव्या की बहन बुलबुल की मौत हो गई थी। पुलिस ने अपनी प्रररंभिक जांच में दिव्या द्वारा चार की हत्या कर खुद खुदकशी कर लेना बताया है। पुलिस ने सबके मोबाइल कब्जे में लेकर कॉल डिटेल ट्रेस की थीं। दिव्या और उसकी बहन बुलबुल के फोन भी खंगाले गए, जिनमें तमाम मैसेज मिले हैं, जिनसे मौत के कारण का भी पता चल रहा है।

मैसेज में लिखा कुछ भी कर सकती हैं दीदी

पुलिस द्वारा की जा रही जांच-पड़ताल में पता चला है कि दिव्या की कलाई में खुली चोट पहले से ही थी। घटना से चार दिन पहले बुलबुल ने अपने दोस्त अंकित को भेजे मैसेज में लिखा कि दीदी बहुत गुस्से में हैं उन्होंने अपना हाथ काट लिया है, वे कुछ भी कर सकती हैं। मैं जीजाजी को समझाने की कोशिश कर रही हूं, दीदी कुछ भी सुनने को तैयार ही नहीं हैं, वह टेंशन में रहती हैं। ऐसी ही तमाम बातें बुलबुल ने अपने दोस्त से शेयर की हैं जो घटना की मूल वजह का पर्दाफाश कर रहीं हैं।

तनाव के कारण नहीं रहना चाहती थी बुलबुल

बहन-बहनोई के बीच तनाव के चलते बुलबुल परेशान थी। वह अपनी बहन के यहां नहीं रहना चाहती थी, तंग आकर उसने अपने दोस्त को भेजे मैसेज में लिखा कि घर का माहौल बहुत खराब है और वह अब यहां नहीं रहना चाहती। इसलिए अपने घर पर भी बात करेगी। यह सारी बातें घटना की मूल वजह पर जमीं परत को काफी हद तक हटा रहीं हैं।

एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत के मामले में पुलिस द्वारा जांच की जा रही है। तमाम साक्ष्य जुटाए गए हैं, बिसरा व फॉरेंसिक रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है, शीघ्र ही मामले का पर्दाफाश कर दिया जाएगा।

- सुनील कुमार सिंह, एसएसपी, एटा 

Edited By: Tanu Gupta