आगरा, जागरण संवाददाता। एत्माद्दौला के कालिंदी विहार में बुधवार सुबह प्लास्टिक कुर्सी बनाने की फैक्ट्री में भीषण आग लग गई। आग के बाद तेज धमाकों से दहशत और अफरातफरी मच गई। फैक्ट्री के बेसमेंट में काम करते दो दर्जन मजदूर किसी तरह जान बचाकर वहां से भागे। आग बुझाने को एयरफोर्स, मथुरा और फीरोजाबाद की दमकल पहुंच गई। पांच घंटे मशक्कत के बाद आग काबू आ सकी। एसएसपी बबलू कुमार भी मौके पर पहुंचे।

कमला नगर निवासी सुनील गर्ग की प्लास्टिक की कुर्सी बनाने की फैक्ट्री कालिंदी विहार खत्ता पार्क के पास कृष्णा कॉलोनी में है। फैक्ट्री परिसर में चार गोदाम भी हैं। इसमें 150 मजदूर काम करते हैं। अधिकांश बिहार और इलाहाबाद के हैं। मंगलवार की रात से फैक्ट्री के बेसमेंट में करीब दो दर्जन मजदूर काम कर रहे थे। बुधवार सुबह साढे़ चार बजे भूतल पर बने कुर्सियों का गोदाम के बराबर बने स्टोर रूम में शार्ट सर्किट के बाद श्रमिक कप्तान सिह के सामने तेज धमाका हुआ।

इसी समय दूसरा धमाका बराबर में बनी फैक्ट्री में हुआ। पलक झपकते फैक्ट्री और गोदाम लपटों में घिर गए।

कप्तान सिंह ने बेसमेंट में काम करते दो दर्जन मजदूरों को शोर मचाकर आग लगने की जानकारी दी। इससे मजदूरों में भगदड़ मच गई। उसने बेसमेंट से भागकर अपनी जान बचाई। फायर ब्रिगेड और फैक्ट्री मालिक सुनील गर्ग मौके पर पहुंच गए। तब तक आग पूरी फैक्ट्री को अपनी चपेट में ले चुकी थी। मौके पर पहुंचे एसएसपी बबलू कुमार ने जनकपुरी आयोजन और रामबरात में आई मथुरा, फिरोजाबाद के अलावा एयरफोर्स स्टेशन से भी दमकल बुला लीं। आग के चलते भूतल पर बने गोदाम की छत ढह गई। दमकलों ने पांच घंटे की मशक्कत के बाद आग को काबू किया। मुख्य अग्निशमन अधिकारी अक्षय रंजन शर्मा के अनुसार आग शार्ट सर्किट से लगना बताई गई है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप