आगरा, जागरण संवाददाता। बुधवार तड़के चार बजे ताजनगरी में प्लास्टिक कुर्सी बनाने की फैक्ट्री में बड़ा हादसा हो गया। फैक्ट्री में शार्ट सर्किट से लगी आग ने चंद मिनटों में ही विकराल रूप धारण कर लिया। रात की शिफ्ट में काम कर रहे कर्मचारियों के आगे जान बचाने के लाले पड़ गए। उन्होंने किसी तरह भागकर अपनी जान बचाई। आग इतनी जबरदस्त है कि 20 दमकलें जुटी हुई हैं पर वे उस पर काबू नहीं पा सकी हैं। समाचार लिखे जाने तक एयरफोर्स की दमकलें भी बुलाई जा चुकी थीं। आसपास के पूरे इलाके में आग को लेकर दहशत फैली हुई है।

कमलानगर निवासी पवन कुमार अग्रवाल की शाहदरा में मंडी समिति के पास तीन मंजिला फैक्ट्री है। बेसमेंट के साथ इसमें ऊपर दो मंजिल और बनी हुई हैं। मंगलवार की रात की शिफ्ट में कर्मचारी प्लास्टिक की कुर्सियां बनाने में जुटे थे। बुधवार तड़के चार बजे करीब 20 कर्मचारी कुर्सियों की कटिंग के काम में जुटे थे। तभी एकदम से फैक्ट्री में लपटें उठने लगीं। कर्मचारियों ने अपने स्तर से आग को बुझाने का प्रयास किया लेकिन आग इतनी विकराल हो चुकी थी कि कर्मचारियों को अपनी जान बचाकर बाहर भागना पड़ा। बताया जा रहा है कि आग शार्ट सर्किट की वजह से लगी।

सुबह पांच बजे तक स्थिति यह थी कि पूरे क्षेत्र में धुआं नजर आ रहा था। आसपास पड़ोस के क्षेत्र के लोग भी मौके पर जुट गए और आग बुझाने के प्रयास करने लगे। मौके पर पहुंचीं फायर बिग्रेड ने प्रयास किए लेकिन नाकाफी रहे। सुबह आठ बजे तक आगरा के अलावा मथुरा रिफाइनरी से आईं 20 दमकलें मौके पर जुटी हुई थीं।

एसएसपी बबलू कुमार ने बताया कि एयरफोर्स से भी मदद मांगी गई है। वहां से भी फायर बिग्रेड की गाडिय़ां आ रही हैं। एहतियातन मौके से भीड़ को हटा दिया गया है।

होने लगी सांस लेने में परेशानी

प्लास्टिक में आग लगने के कारण पूरे इलाके में काले धुएं के गुबार छाए हुए हैं। धुआं इतना ज्यादा है कि आसपास के लोगों को सांस लेने में परेशानी होने लगी है। प्लास्टिक जलने की बदबू पूरे क्षेत्र में फैली हुई है। लोगों का दम घुटने लगा।  

Posted By: Tanu Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप