आगरा(जेएनएन): फीरोजाबाद जिले के शिकोहाबाद क्षेत्र के वयोवृद्ध सपा नेता एवं पूर्व विधायक झाऊलाल यादव का शुक्रवार को निधन हो गया। वह पिछले कई दिनों से बीमार चल रहे थे तथा गुरुग्राम के वेदाता अस्पताल में भर्ती थे। जहा पर सुबह उन्होंने अंतिम सास ली। उनके निधन की सूचना पर शिकोहाबाद सहित आस-पास के कई नेता भी शोक श्रद्धाजलि देने पहुंचे।

चौ. झाऊलाल यादव सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव के छात्र जीवन के मित्रों में से एक रहे हैं। आठ दिसंबर 1942 को शिकोहाबाद के नगला इंची गाव में जन्मे झाऊलाल यादव के पिता मुंशीलाल यादव गाव के सरपंच थे। 1962 में एके डिग्री कॉलेज में पढ़ाई के दौरान ही मुलायम सिंह यादव से उनका परिचय हुआ और दोस्ती बढ़ गई। चौ. झाऊलाल ने छात्र संघ चुनाव में सक्रिय भूमिका निभाते हुए जीत दर्ज कराई। इसके बाद वे 1965 में पालीवाल इंटर कॉलेज में भूगोल प्रवक्ता बने। झाऊलाल की सीट से मुख्यमंत्री बने थे मुलायम: राजनीति में सक्रिय होने के बाद 1989 में झाऊलाल यादव ने जनता दल पार्टी प्रत्याशी के रूप में शिकोहाबाद से विधायक का चुनाव लड़ा, लेकिन 250 वोटों से हार गए। 1991 में निर्दलीय चुनाव लड़ते हुए विधायक बने। 1993 में शिकोहाबाद की सीट को सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव के लिए छोड़ा, तब सपा मुखिया यहा से जीतने के बाद मुख्यमंत्री बने।

कई पार्टियों में रहने के बाद हुई थी वापसी: मुलायम सिंह के मुख्यमंत्री बनने के बाद पार्टी ने झाऊलाल की अनदेखी की तो उन्होंने सपा छोड़ दी। 1997 में काग्रेस से चुनाव लड़े, लेकिन हार गए। 1998 में पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के साथ में जाते हुए राष्ट्रीय क्राति पार्टी का दामन थामा। 2002 में राष्ट्रीय क्राति पार्टी में चुनाव लड़े, लेकिन जीत हासिल नहीं हुई। 2009 में अखिलेश यादव के लोकसभा चुनाव में उन्होंने फिर से सपा का दामन थाम लिया। सपा ने इन्हें प्रदेश सचिव बनाया।

Posted By: Jagran