आगरा, जेएनएन। एटा पुलिस द्वारा चलाए गए आपरेशन नॉक आउट के अंतर्गत 78 अभियुक्तों को विभिन्न थानों की पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इनमें कई वारंटी और वांछित आरोपी शामिल हैं, जबकि चार ऐसे भी पकड़े गए जिनमें दो पर पुरस्कार घोषित था तथा दो को लोकसभा चुनाव की ²ष्टि से जिलाबदर कर दिया गया था। यह अभियान चौबीस घंटे चलाया गया, जिसके अंतर्गत बड़े पैमाने पर धरपकड़ की गई। पकड़े गए अभियुक्तों में 15-15 हजार के इनामी बदमाश भी शामिल हैं।

लोकसभा चुनाव को लेकर पुलिस ने हाल ही में आपरेशन दस्तक अभियान चलाया था, जिसके तहत सैकड़ों गिरफ्तारियां की गईं थीं। इसके बाद इस अभियान का नाम बदलकर आपरेशन नॉक आउट रख दिया गया। बीते चौबीस घंटों के दौरान जिले के सभी थानेदारों को एसएसपी स्वप्निल ममगाई ने निर्देश दिए कि सभी क्षेत्रों में अभियान चलाकर गिरफ्तारियां की जाएं। इसके बाद धरपकड़ जिलेभर में तेज कर दी गई। एसएसपी ने बताया कि अभियान के अंतर्गत दो पुरस्कार घोषित अपराधी पकड़े गए, इनमें 15 हजार का इनामी संजू उर्फ संजय पुत्र सूरजपाल निवासी सिरोली थाना ढोलना, जनपद कासगंज को पिवारी तथा गौवध अधिनियम में वांछित चल रहा 15 हजार का इनामी हफीज पुत्र गनी निवासी मुहल्ला काजी थाना सकीट को गिरफ्तार कर लिया गया। यह शख्स गौवध अधिनियम में वांछित चल रहा था।

इसी क्रम में मारहरा पुलिस ने गुंडाएक्ट में जिलाबदर चल रहे करू पुत्र मातादीन निवासी लालपुर जहांगीराबाद थाना क्षेत्र को रेलवे स्टेशन के पास से तथा पिलुआ पुलिस ने गुंडाएक्ट में ही जिलाबदर चल रहे अनुज पुत्र मेघ ङ्क्षसह निवासी भदुआ थाना पिलुआ को गिरफ्तार किया है। इसके अलावा 56 वारंटी और 18 वांछित गिरफ्तार हुए हैं। मारहरा, सकीट, कोतवाली नगर, मलावन, जैथरा आदि थाने इस अभियान में अव्वल रहे।

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस