आगरा, जागरण टीम। पवित्रा एकादशी पर ठा. बांकेबिहारी मंदिर में दर्शन को भक्तों की भारी भीड़ उमड़ी। पंचकोसीय परिक्रमा में भी भोर से ही श्रद्धालुओं की कतार लगी थी। परिक्रमा मार्ग में यमुना किनारे हो रहे कटान के ऊपर से श्रद्धालु गुजरते रहे और नगर निगम व जिला प्रशासन की नींद तक नहीं टूटी।

पंचकोसीय परिक्रमा पर भक्तों की मानव श्रृंखला

पवित्रा एकादशी पर तीर्थनगरी की पंचकोसीय परिक्रमा में सोमवार सुबह से ही भक्तों की मानव श्रृंखला बनी नजर आई। भगवान का भजन, संकीर्तन करते भक्तों के कदम आगे बढ़ रहे थे। लेकिन, अव्यवस्थाओं के बीच यमुना किनारे अपनी जान हथेली पर रख भक्तों ने परिक्रमा पूरी की।

यमुना में बढ़ रहा जलस्तर

यमुना में बढ़ रहे जलस्तर के बीच मिट्टी का कटान लगातार जारी है। विहार घाट से केशीघाट तक के करीब दो सौ मीटर लंबे परिक्रमा मार्ग में यमुना उफान पर है। जिसके कारण परिक्रमा मार्ग के किनारे मिट्टी का कटान भी हो रहा है। कुछ बची भूमि से परिक्रमार्थी दिनभर गुजरते रहे। जबकि मिट्टी का कटान भी यमुना के उफान से लगातार हो रहा था।सावन के महीने में यमुना में बढ़ रहे जलस्तर पर अब तक प्रशासन ने कोई चेतावनी तक जारी नहीं की है।

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर रहेगी भक्तों की भीड़

यमुना किनारे मिट्टी का कटान जारी है और श्रद्धालुओं की संख्या भी इन दिनों वृंदावन में लगातार बढ़ती जा रही है। ये श्रीकृष्ण जन्माष्टमी तक अनवरत रूप से बढ़ती ही रहेगी। ठा. बांकेबिहारी मंदिर में भी दर्शन को आ रहे श्रद्धालुओं को अव्यवस्थाओं से जूझना पड़ा। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए मंदिर के बाहर किसी तरह के इंतजाम नजर नहीं आए।

बाजार और मंदिर की गली भक्तों की भीड़ से खचाखच भरी थी। उमस भरी गर्मी में पसीने से तरबतर श्रद्धालुओं की हालत खराब हो रही थी। लेकिन, व्यवस्था बनाने के लिए कोई इंतजाम नहीं थे। 

ये भी पढ़ें...

Raksha Bandhan 2022 : बहनें कन्‍फ्यूज 11 या 12 अगस्त कब बांधें राखी? जानें दोनों दिन के शुभ मुहूर्त

Edited By: Abhishek Saxena