आगरा, जागरण संवाददाता। शासन की सख्ती का असर दिखना शुरू को गया है। दीपावली से ठीक पहले आबादी वाले क्षेत्रों में खुले आठ आतिशबाजी गोदामों (भंडारण गृह) के लाइसेंस को निरस्त कर दिया गया है। तत्काल प्रभाव से बिक्री पर रोक लगा दी गई है।

आगरा शहर में 16 आतिशबाजी भंडारण गृह हैं जिसमें चार भंडारण गृह पांच माह से बंद हैं। पिछले दिनों शासन के आदेश पर पुलिस-प्रशासन की टीम ने आबादी वाले क्षेत्रों में चल रहे भंडारण गृह की जांच की। एडीएम सिटी केपी सिंह ने बताया कि पहले चरण में आठ आतिशबाजी भंडारण गृह के लाइसेंस को निरस्त कर दिए गए हैं। चार भंडारण की जांच चल रही है।

याचिका हो गई थी खारिज

आबादी वाले क्षेत्रों में आतिशबाजी का भंडारण नहीं किया जा सकता है। थोक विक्रेताओं को कई बार नोटिस जारी किए गए। इन्हें दुकानें शिफ्ट करने के लिए कहा गया। वर्ष 2004 में इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई। नरेंद्र अग्रवाल व अन्य बनाम यूनियन ऑफ इंडिया की थी। कोर्ट ने कार्रवाई पर रोक लगा दी। सात अप्रैल 2017 को स्थगन आदेश कोर्ट ने खत्म कर दिया।

करोड़ों रुपये की है आतिशबाजी

दीवाली से ठीक पूर्व लाइसेंसियों ने करोड़ों रुपये का माल भर लिया था। जिससे अब उन्हें झटका लगा है।

दुकानों के लिए आ रहींं दनादन सिफारिशें

इस साल शहर के 17 क्षेत्रों में पटाखा बाजार सजेगा। पटाखा बाजार का लाइसेंस लेने केलिए हर दिन बड़ी संख्या में सिफारिशें आ रही हैं। मंगलवार को एडीएम सिटी कार्यालय में 60 फॉर्म जमा हुए। उधर, दुकानों के आवंटन को लेकर कलक्ट्रेट में हुई बैठक चर्चा का विषय बनी हुई है। बैठक में एक अधिकारी व डीएम कार्यालय के कर्मचारी सहित अन्य शामिल हुए थे। दुकानों के आवंटन पर भी चर्चा हुई। यह पहला मौका है जब पटाखा बाजार को लेकर कलक्ट्रेट में बैठक हुई है।

इन फर्म का लाइसेंस हुआ निरस्त

  •  आशीष अग्रवाल। बाइपास रोड घनी आबादी, थाना न्यू आगरा
  • कुसुम दुबे। न्यू कौशलपुर विद्या नगर, दयालबाग।
  •  राजेश गुप्ता। सिंगी गली, थाना छत्ता।
  •  राकेश। कमलानगर, थाना न्यू आगरा
  •  गोविंद प्रसाद अग्रवाल। कमला नगर, थाना न्यू आगरा
  •  राकेश कटारिया। हनुमान नगर जैन मंदिर के सामने एत्माद्दौला।
  •  गिरीश जैन। श्रीनगर कॉलोनी फीरोजाबाद बाइपास रोड
  •  विनय कुमार जैन। माया ट्रेडर्स, जाटनी का बाग एत्माद्दौला।  

Posted By: Prateek Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप