आगरा, जागरण संवाददाता। कोविड संक्रमण के कारण शिक्षण संस्थान बंद है। इससे परिषदीय विद्यालयों मे पढ़ने वाले विद्यार्थियों की पढ़ाई भी प्रभावित हैं। उनकी पढ़ाई को पटरी पर लाने के लिए कवायद शुरू हो चुकी है। राज्य परियोजना निदेशक ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी (बीएसए) को दिशा-निर्देश दिए हैं कि कक्षा एक से आठवीं तक के विद्यार्थियों के लिए अप्रैल 2020 से संचालित ई-पाठशाला का छठवां चरण शुरू किया जाए।

इस ई-पाठशाला कार्यक्रम के अंतर्गत राज्य स्तर से कक्षा व विषयवार शैक्षणिक सामग्री शिक्षकों को वाट्सएप ग्रुप के माध्यम से भेजी जाएगी। शिक्षक इसे प्रेरणा साथी व अभिभावकों के वाट्सएप ग्रुप पर साझा करेंगे। साथ ही प्रत्येक शनिवार को वाट्सएप के माध्यम से विद्यार्थियों के पास साप्ताहिक क्विज की सामग्री भी भेजी जाएगी।इस सारी कवायद का उद्देश्य विद्यार्थियों द्वारा पिछले दिनों की गई पढ़ाई का दोहराव कराकर उनका मूल्यांकन करना है। राज्य स्तर से भेजी गई शैक्षणिक सामग्री के अलावा शिक्षक भी विषय आधारित शैक्षणिक सामग्री प्रेरणा साथी व अभिभावकों के माध्यम से विद्यार्थियों को उपलब्ध कराएंगे। शिक्षक व प्रेरणा साथी शैक्षणिक सामग्री से नियमित अभ्यास व उसे हल करने के लिए विद्यार्थियों को प्रोत्साहित भी करेंगे। अभिभावकों को भी जागरूक किया जाएगा।

डायट प्राचार्य व बीएसए करेंगे निगरानी

इस पूरी कवायद पर नजर रखने की जिम्मेदारी जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान (डायट) प्राचार्य व जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी की होगी। उनके नेतृत्व में एसआरजी, एआरपी व डायट मेंटर विद्यालयों की निगरानी करेंगे। साथ ही ई-पाठशाला के सफल संचालन में सहयोग करेंगे। खंड शिक्षाधिकारी आन-लाइन मासिक बैठक कर सहयोग व मार्गदर्शन देंगे।

अधिकारी करेंगे निरीक्षण

जिला बेसिक शिक्षाधिकारी सतीश कुमार ने बताया कि ई-पाठशाला संचालित कर विद्यार्थियों को पढ़ाने के निर्देश प्राप्त हुए हैं, इसके लिए सभी शिक्षकों को आदेश जारी कर दिया गया है। अब अधिकारी निरीक्षण कर इसका अनुपालन सुनिश्चित कराएंगे। 

Edited By: Tanu Gupta