आगरा: एसएन में शनिवार को ई हॉस्पिटल की सुविधा शुरू की गई। यहां नई सर्जरी बिल्डिंग के भूतल में ई हॉस्पिटल के लिए हब रूम बनाया गया है। पहले चरण में मरीजों का पंजीकरण, बिलिंग, वार्ड में भर्ती होने वाले मरीजों का पंजीकरण और ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन सिस्टम (घर बैठे ऑनलाइन ओपीडी के लिए रजिस्ट्रेशन कराना ) शुरू किया जा रहा है।

ई हॉस्पिटल की सुविधा का वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से लखनऊ चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन ने किया। प्राचार्य डॉ. जीके अनेजा ने बताया कि नई सर्जरी बिल्डिंग में कंप्यूटर हब बनाया गया है। तीन कंपनियों द्वारा इसका संचालन किया जाएगा। इसके लिए 43 कंप्यूटर लगाए गए हैं। ओपीडी में 1595 मरीजों के ऑनलाइन पंजीकरण किए गए। इस दौरान प्रमुख अधीक्षक डॉ. एसके मजूमदार, डॉ. सरोज सिंह, डॉ. एसके मिश्रा, डॉ. पीके माहेश्वरी, डॉ. संतोष कुमार, डॉ. धर्मेद्र, डॉ. सीपी पाल, डॉ. अनुज त्यागी, डॉ. जूही सिंघल, डॉ. सपना गोयल आदि मौजूद रहे। ऑनलाइन सिस्टम से मरीज हो रहे परेशान

ओपीडी में ऑनलाइन ब्योरा दर्ज करने के बाद पर्चा बनाया जा रहा है। इसमें तीन से पांच मिनट लग रहे हैं। हाथ से पर्चा बनाने में एक से दो मिनट लगते थे। इसके चलते पर्चे के लिए ओपीडी में लंबी लाइन लग रही है और मरीज परेशान हो रहे हैं।

इस तरह ई हॉस्पिटल करेगा काम

- ओपीडी में ऑनलाइन पर्चे बनाए जाएंगे, इसके लिए 11 कंप्यूटर लगाए जाएंगे।

- पैथोलॉजी जांच, एमआरआइ, अल्ट्रासाउंड और एक्सरे की जांच की बिलिंग के लिए 11 कंप्यूटर लगेंगे।

- वार्ड में भर्ती मरीजों का ऑनलाइन ब्योरा दर्ज करने के लिए 11 कंप्यूटर लगाए गए हैं।

- घर बैठे ओपीडी में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन सिस्टम से नंबर लगा सकते हैं।

- मरीजों की हिस्ट्री, डेथ सर्टिफिकेट भी ऑनलाइन मिल सकेगा।

Posted By: Jagran