आगरा, जागरण संवाददाता। औषधि विभाग की टीम ने गुरुवार को फव्वारा दवा बाजार में छापा मारा। टीम ने जीत केमिस्ट पर दो से आठ डिग्री सेल्सियस तापमान पर स्टोर की जाने वाली इंसुलिन को फ्रिज के बाहर कार्टन में रखा पाया। इसे सीज कर दिया गया। वहीं, रोहिणी मेडिकल एजेंसी से फिजिशयन सैंपल की दवाएं जब्त की हैं।

सहायक औषधि आयुक्त एके जैन ने बताया कि बोहरे राम गोपाल मार्केट के जीत केमिस्ट में छापा मारा। संचालक महेश ठाकवानी से दवाओं की खरीद बिक्री के रिकार्ड देखे गए। यहां चार कार्टन में तीन अलग-अलग कंपनियों की इंसुलिन रखी हुई थीं। इंसुलिन की गुणवत्ता बनाए रखने के लिए इसे दो से आठ डिग्री सेल्सियस तापमान पर स्टोर किया जाना चाहिए। कुछ इंसुलिन फ्रिज में भी रखी हुईं थी, यहां से 10 लाख की इंसुलिन सीज की गईं हैं, इसके साथ ही एक दवा का सैंपल लिया गया है।

इसके बाद रोहिणी मेडिकल एजेंसी, द्वितीय मंजिल मुबारक महल पर छापा मारा गया। चार पालीथिन में अलग-अलग दवा कंपनी के करीब छह हजार कीमत के फिजीशियन सैंपल रखे हुए थे। संचालक सूर्यकांत गुप्ता संतोषजनक जवाब नहीं दे सके। यहां से एंटीबायोटिक सहित तीन दवाओं के सैंपल लिए गए हैं। इन्हें नोटिस जारी कर बिल दिखाने के लिए समय दिया जाएगा। जवाब मिलने के बाद कोर्ट में वाद दायर किया जाएगा। टीम में अनिल कुमार आनंद, औषधि निरीक्षक मथुरा, सुनील कुमार, औषधि निरीक्षक फीरोजाबाद शामिल रहे। एचबी साहिल खैरगढ़ मेडिकल एजेंसी मिली बंद :

इसके बाद टीम एचबी साहिल, खैरगढ़ मेडिकल एजेंसी पहुंची। यह बंद मिली। सहायक औषधि आयुक्त एके जैन ने बताया कि पंजाब और राजस्थान पुलिस द्वारा नशे के कारोबार के सिलसिले में जिन कारोबारियों से पूछताछ की गई है, वहां छापा मारकर जांच की जा रही है। दुकानें बंद, दवा कारोबारियों ने किया विरोध :

औषधि विभाग की कार्रवाई के दौरान दवा की दुकानें बंद हो गई। जिला आगरा केमिस्ट एसोसिएशन के पदाधिकारी पहुंच गए। अध्यक्ष आशु शर्मा ने दवा कारोबारियों का जांच के नाम पर उत्पीड़न करने पर आंदोलन की चेतावनी दी। साथ ही औषधि निरीक्षक राजकुमार शर्मा पर 35 लाख रुपये की रिश्वत मांगने के आरोप में कार्रवाई करने की मांग की।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस