आगरा, जागरण संवाददाता। मानसून में शहरवासी बारिश का मजा ले रहे हैं। वहीं शहर के कुछ वार्ड ऐसे भी हैं जहां ये बारिश किसी दैवीय आपदा से कम नहीं है। थोड़ी सी बारिश में यहां की बस्तियों में गलियों को नहर बनते देर नहीं लगती। ऐसे में यहां के लोग मजबूर होकर घरों में कैद हो जाते हैं। क्षेत्र में निगम को विकास कार्य नहीं कराने के लिए कोसते हैं।

मानसून में शहर के कुछ वार्डो में बेहद जलभराव होता है। यहां के पार्षदों की मानें तो जलभराव को रोकने के लिए जो विकास कार्य किए जाने थे वो निगम द्वारा नहीं किए गए। आरोप है कि गरीब लोगों का इलाका होने के कारण इनकी समस्याओं को हल्के में लिया जाता है। इन क्षेत्रों के विकास कार्यो की फाइलों को निगम में महीनों घुमाया जाता है। अंत में किसी छोटी-मोटी गलती पर फाइल को निरस्त कर दिया जाता है। ऐसे ही साल बीत जाता है और बारिश का मौसम एक बार फिर यहां के लोगों पर दैवीय आपदा बनकर टूट पड़ता है।

ऐसे कब तक निकालोगे पानी, क्यों नहीं बनवाई नाली

जगदीशपुरा स्थित वार्ड तीन में बारिश में जलभराव होना आम बात है। यहां गली-गली में कई फुट पानी भरा है। स्थानीय लोगों ने बताया कि इलाके में एक गड्ढा है। यहां बारिश का पानी जमा होता है। लेकिन गड्ढे से आगे पानी का निकास नहीं है। बारिश होने पर पंप सेट मशीन से पानी को निकाला जाता है। बारिश थोड़ी ज्यादा हो तो पानी इलाके के घरों में भर जाता है। गलियां लबालब हो जाती हैं। वार्ड के पार्षद महेश कुमार ने बताया कि निगम को यहां एक नाली बनाने का प्रस्ताव भेजा था। आज तक उस नाली का निर्माण नहीं कराया गया। निगम गैर जरूरी कामों पर पैसा खर्च कर रहा है पर बेहद नरकीय हालात में रह रहे लोगों के बारे में नहीं सोच रहा।

पीने को पानी नहीं पर जलभराव बना मुसीबत

रामनगर की पुलिया स्थित वार्ड 30 की कहानी विचित्र है। यहां आज तक पानी की पाइप लाइनें नहीं डाली गईं हैं। नालियां नहीं होने के कारण बारिश के मौसम में जलभराव जरूर हो जाता है। वार्ड में सीवर भी नहीं है। स्थानीय लोगों का कहना है कि जब भी प्रतिनिधियों के पास अपनी समस्या लेकर गए तो वोट न देने का ताना देकर लौटा दिया गया। वार्ड के पार्षद मनोज कुमार का कहना है कि कई वार्डो में पक्षपात के चलते विकास कार्य नहीं कराए जा रहे हैं। क्षेत्र के विकास के लिए पांच फाइलें लगा रखी हैं पर उन्हें पास नहीं किया जा रहा। एक फाइल को छोटी सी गलती पर निरस्त कर दिया। वहीं वार्ड 83 के पार्षद होरी लाल बघेल ने बताया कि जलभराव से उनके इलाके में भी नरकीय हालात हैं।

 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Prateek Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप