आगरा, जेएनएन। घर में सो रहे दंपती की सिर में वसूला से हमलाकर हत्या कर दी गई। आठ माह की दत्तक पुत्री को भी गंभीर रूप से घायल कर दिया गया। पुलिस ने मृतक के छोटे भाई को हिरासत में ले लिया है। उसके घर से खून से सनी शर्ट और वसूला भी बरामद कर लिया। घटना के पीछे संपत्ति हड़पने की मंशा मानी जा रही है।

कुरावली थाना क्षेत्र के निजामपुर निवासी बिगनेश शर्मा खेतीबाड़ी कर परिवार का पालन पोषण करते थे। दंपती नि:संतान थे। उन्होंने करीब आठ माह पहले अपनी साली की बेटी वैष्णवी को जन्म के बाद ही गोद ले लिया था। वे गांव के बाहर एक कमरे के मकान में रहते थे। गुरुवार रात आठ बजे तक बिगनेश, पत्नी गीता, बेटी वैष्णवी और छोटे भाई अवनेश को एक साथ कमरे पर देखा गया।

शुक्रवार सुबह बिगनेश के कमरे की कुंडी बाहर से बंद थी। बालिका के रोने की आवाज आ रही थी। पड़ोसी कुंडी खोलकर अंदर पहुंचे। बिस्तर पर बिगनेश और उनकी पत्नी रक्तरंजित हालत में पड़ी थी। दोनों की मौत हो चुकी थी। दोनों के सिर में धारदार हथियार के गहरे जख्म थे। दोनों शवों के बीच बालिका वैष्णवी रो रही थी। उसके सिर में भी गंभीर चोटें थी। पुलिस ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया।

मौके पर लाया गया खोजी श्वान सूंघता हुआ कुछ ही दूरी पर स्थित बिगनेश के छोटे भाई अवनेश के घर तक पहुंचा, वहां ताला था। पुलिस ने ताला तोड़कर तलाशी ली तो बिस्तर के नीचे खून से सनी शर्ट बरामद हुई। मकान के पास ही स्थित नलकूप की बोङ्क्षरग के गड्ढे में खून से सना लकड़ी छीलने वाला वसूला मिला। ये वसूला मृतक बिगनेश का बताया गया।

इसी बीच अवनेश भी आ गया। पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया है। उससे हत्या को लेकर पूछताछ की जा रही है। पुलिस अधीक्षक अजय पांडेय ने बताया कि अगनेश के खिलाफ साक्ष्य मिल रहे हैं। बिगनेश के चचेेरे भाई रामेंद्र ने अवनेश के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई है। रिपोर्ट में शराब पीने से मना करने के विवाद में हत्या करना बताया है। पुलिस अवनेश के बिगनेश की संपत्ति हड़पने की मंशा को भी कारण मानकर जांच कर रही है।

Posted By: Tanu Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस