आगरा, जागरण संवाददाता। ध्रुमिल सोनी, जो आज एक युवा आइकॉन के रूप में पहचाने जाने लगे हैं। ध्रुमिल ने बेहद कम समय में राजनीति और सिनेमा समेत कई क्षेत्रों में अपनी एक अलग पहचान बना ली है। दरअसल, डिजिटल मीडिया के दौर में ध्रुमिल ने अपने टैलेंट के दम पर लाखों लोगों का दिल जीत लिया है। ध्रुमिल ने डिजिटल तकनीक की मदद से यह मुकाम हासिल किया, और यह साबित किया कि टैलेंट किसी जगह की मोहताज़ नहीं होती।

पिछले साल से पूरी दुनिया कोरोना के चलते काफी दिक्कतों का सामना कर रही है। ऐसे में अधिकतर लोग अपने मनोरंजन के लिए अपना अधिकांश समय स्मार्टफोन और कंप्यूटर पर व्यतीत कर रहे हैं। यह एक तरह का सुनहरा मौका है, जिसका फायदा अपने टैलेंट के दम पर हर कोई उठा रहा है। ठीक इसी बीच जब डिजिटल मीडिया पर लोगों का ध्यान आकर्षित था, तभी ध्रुमिल ने यह देखते हुए डिजिटल एंटरप्रेन्योर बनने का फैसला किया।

जागरण.कॉम से बातचीत में ध्रुमिल ने बताया कि वह दूसरे लोगों को फेसबुक और इंस्टाग्राम पर अपनी पहचान बनाने की जानकारी दे रहे हैं। साथ ही, पोर्टल को ठीक तरह से इस्तेमाल के बारे में भी बता रहे हैं। अब अगर उनकी जर्नी पर नज़र डालें, तो 2016 में उन्होंने अपने पहले स्टार्टअप पिक्साट्रॉनिक्स की शुरुआत की। इसी के साथ ध्रुमिल ने कई फिल्मी सितारों के लिए काम किया है और राजनीति कैंपेन भी लीड किए हैं। ध्रुमिल ने कहा कि आज वॉट्सऐप और फेसबुक के दौर में हर वर्ग के लोग मोबाइल चला रहे हैं। ऐसे में डिजिटल तौर पर लोगों से कनेक्ट होना बेहद ज़रूरी है। मैं एक राजनीति सलाहकार के रूप में भी काम करता हूं। वहीं, इस दौर में उन्होंने मां जगदंबा की स्तुति पेश करने की भी पहल की थी, जो लोगों को बहुत पसंद आया था। साथ ही, उन्होंने अफरा-तफरी मूवी और गुजरात चुनाव में नेताओं के पॉलिटिकल कैंपेन के लिए भी काम किया।

Edited By: Prateek Gupta