आगरा, जागरण संवाददाता। जेएनयू में चल रहा फीस वृद्धि को लेकर चल रहा विवाद इस वक्‍त हर राजनेता के निशाने पर है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के 65 वें राष्‍ट्रीय अधिवेशन में पहुंचे डिप्‍टी सीएम डॉ दिनेश शर्मा भी जेएनयू छत्रों पर जमकर बरसे। कहा कि विवाद को तूल देने वाले छात्रों के खिलाफ कठोर कार्रवाई होनी चाहिए। भारत में रहने वाले स्‍वामि विवेकानंद का भी सम्‍मान नहीं कर सकते तो उन्‍हें निर्दोष नहीं मानना चाहिए। प्रतिमा अनावरण से ठीक पहले उसे क्षतिग्रस्‍त करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए।

डिप्‍टी सीएम डॉ दिनेश शर्मा शुक्रवार दोपहर तय समय से करीब साढ़े तीन घंटे देरी पहुंचे थे। डिप्‍टी सीएम के आगमन में देरी के कारण अधिवेशन में लगाई गई प्रदर्शनी का उदघाटन मेयर नवीन जैन द्वारा कराया गया। डिप्‍टी सीएम के आगरा कॉलेज में चल रहे अध्‍ािवेशन में पहुंचने पर उनका स्‍वागत भारतीय संस्‍कृति के अनुसार माथे पर तिलक लगाकर किया गया। केंद्रीय कक्ष में कुछ देर रुकने के बाद डिप्‍टी सीएम ने प्रदर्शनी में बनाए गए जलियांवाला बाग और पुलवामा के शहीद कौशल रावत को समर्पित मॉडल्‍स का अवलोकन किया।

इस दौरान उन्‍होंने कहा कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद एकमात्र ऐसा संगठन है जो छात्रों में राष्ट्रवाद की भावना का संचार करता है। गैर राजनीतिक होने के बाद भी समाज सेवा के क्षेत्र में प्रमुखता से हिस्सेदारी रहती है। बीएचयू में धर्म के नाम पर शिक्षक को लेकर चले विवाद पर डिप्टी सीएम ने कहा कि मुझे संस्कृत पढ़ाने वाले भी मुस्लिम शिक्षक थे। मंत्रियों द्वारा नगर निगम के लेखा अधिकारी की शिकायत पर कहा नगर विकास मंत्री कार्यवाही करेंगे।

 

Posted By: Tanu Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस