आगरा, जागरण संवाददाता। शोहदों द्वारा आग के हवाले की गई छात्रा संजली के परिजनों से मिलने उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा पहुंचे। शुक्रवार सुबह करीब खेरिया हवाई अड्डे पर पहुंचने के बाद उपमुख्यमंत्री सीधे थाना मलपुरा के लालऊ गांव के लिए रवाना हो गए। यहां पहुंचकर छात्रा के परिजनों से मिलकर सांत्वना दी और पांच लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की। साथ ही अन्य सरकारी सहायता देने की बात भी कही। उन्होंने अपराधियों के जल्द से जल्द पकड़ में आने की बात भी कही। इस दौरान उनके साथ भाजपा नेता राजकुमार चाहर, विधायक हेमलता दिवाकर, पूर्व मेयर अंजुला सिंह माहौर भी मौजूद थे।  

 बता दें कि मंगलवार को जगनेर रोड स्थित अशर्फी देवी छिद्दू सिंह इंटर कॉलेज की छात्रा और मलपुरा के लालऊ निवासी हरेंद्र सिंह की पुत्री संजली (15 वर्ष) पर पेट्रोल उड़ेल आग लगा दी गई। छात्रा साइकिल से स्कूल जा रही थी, तभी हेलमेट पहने दो बाइक सवार युवकों ने उसपर पेट्रोल उड़ेल दिया और आग लगा दी। 

छात्रा को गंभीर हालत में एसएन मेडिकल कॉलेज भर्ती कराया गया, जहां उसे दिल्ली के सफदरजंग हॉस्पीटल रेफर कर दिया गया। बुधवार रात उपचार के दौरान संजली ने दिल्ली के सफदरजंग हॉस्पिटल में दम तोड़ दिया था। इस पूरे प्रकरण में नया मोड़ उस वक्त आया जब गुरुवार को संजली के ताऊ के बेटे योगेश ने आत्महत्या कर ली। योगेश पर पुलिस को शक था। शक के चलते पुलिस योगेश को पहचान के लिए दिल्ली में भर्ती संजली के पास लेकर गई थी। इसके बाद बुधवार रात 12 बजे संजली ने दम तोड़ दिया। 

 

लोगों में है आक्रोश गुबार

संजली के जाने के बाद लोगों के दिलों में गम, गुबार और गुस्सा है। सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन हो रहे हैं। कलक्ट्रेट पर भीम आर्मी, समाजवादी पार्टी और किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं ने जोरदार प्रदर्शन किया था। प्रशासन से मांग की जा रही है कि दो दिन पर्दाफाश करे और आरोपितों को जेल भेजें। वर्ना उग्र आंदोलन होगा। उधर संजली के स्कूल के साथी भी गमजदां हैं और उसे आग के हवाले करने वाले युवकों का सुराग लगाने में जुटे हैं।

आग लगने के बाद सड़क पर लगाई दी छात्रा ने दौड़

आरोपितों ने संजली को आग के हवाले करने के बाद खाई में धकेलने का प्रयास किया था। लेकिन तब तक छात्रा ने सड़क पर दौड़ लगा दी थी। आग की लपटों में घिरी छात्रा को सड़क पर दौड़ता देख राहगीरों ने आग बुझाई। चश्मदीद के मुताबिक घटना स्थल के पास से एक स्कूल बस गुजर रही थी। बस के ड्राइवर ने जब बच्ची को जलते हुए देखा तो तुरंत बस रोक दी और बस में रखे फायर एक्सटिंगशर से आग बुझाई। जिसके बाद पुलिस की मदद से बच्ची को घायल हालात में अस्पताल ले जाया गया। 

महिला आयोग सख्त

छात्रा को आग लगाने की घटना पर उत्तर प्रदेश राच्य महिला आयोग सख्त है। घटना का स्वत: संज्ञान लेते हुए आयोग अध्यक्ष विमला बाथम ने आगरा के डीएम तथा एसएसपी से फोन पर प्रकरण की विस्तृत जानकारी ली। एसएसपी ने अवगत कराया गया कि तीन संदिग्ध लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

अध्यक्ष ने दोषियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई किए जाने व पीडि़ता के समुचित इलाज व आर्थिक सहायता दिए जाने के साथ ही कार्रवाई से आयोग को यथाशीघ्र अवगत कराए जाने के निर्देश दिए हैं। अध्यक्ष स्तर पर आयोग की सदस्य निर्मला दीक्षित को घटनास्थल पर भेजकर प्रकरण की स्थलीय जांच व पीडि़त परिवार से भेंट करने के भी निर्देश दिए हैं।

Posted By: Prateek Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस