आगरा, जागरण संवाददाता। रेलवे की ऑनलाइन टिकट बुक करने वाले साइबर कैफे संचालक रेलवे पुलिस के रडार पर हैं। आरपीएफ ऐसे कैफे संचालकों को चिह्नित कर कार्रवाई की तैयारी कर रही है।

रेलवे टिकट की कालाबाजारी रोकने को रेलवे पुलिस अभियान चला रही है। पिछले दिनों आगरा मंडल में एक दर्जन एजेंट पकड़े जा चुके हैं। अब रेलवे पुलिस कॉलोनियों में चल रहे रेलवे टिकट बुकिंग सेंटर पर नजर रखे हुए है। आइआरसीटीसी की एजेंट आइडी के बिना टिकट बुक करने वाले साइबर कैफे को चिह्नित करने के लिए रेलवे पुलिस ग्राहक बनकर पहुंच रही है। आरपीएफ थाना फोर्ट प्रभारी ओमप्रकाश सिंह ने बताया कि अनाधिकृत एजेंट द्वारा अपनी आइडी के इस्तेमाल से टिकट निकालकर बिक्री करना गैरकानूनी है। इसमें टिकट बेचने और खरीदने वाले दोनों दोषी होते हैं।

तत्काल बुकिंग भी कर रहे प्रभावित

तत्काल सेवा का आम यात्रियों को लाभ देने के लिए रेलवे द्वारा अधिकृत एजेंट को काउंटर खुलने के आधे घंटे बाद ई-टिकट बुक करने दिए जाते हैं, जबकि अनाधिकृत एजेंट आम यात्री बनकर तुरंत तत्काल टिकट बुक कर लेते हैं। इससे भी लाइन में लगने वाले यात्रियों को परेशानी होती है।  

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021