आगरा, जागरण संवाददाता। पुलिसकर्मी बनकर शातिरों ने महिला को अपनी बातों में फंसा लिया। कागज में गहने रखवाकर उन्हें लेकर भाग गए। महिला ने पुलिस से मामले की शिकायत की है।

बल्केश्वर की सीताराम कॉलोनी निवासी रिटायर्ड रेलवेकर्मी राकेश गुप्ता की पत्नी शशिबाला गुप्ता शुक्रवार को दोपहर बाजार गई थीं। लौटते समय जैसे ही वे कॉलोनी के गेट पर पहुंचीं बाइक सवार दो युवकों ने उन्हें रोक लिया। खुद को पुलिसकर्मी बता युवकों ने कहा कि आजकल लूट हो रही हैं। इसके बाद भी आपने गहने पहन रखे हैं। एक कागज शशिबाला के हाथ में देते हुए कहा कि सोने की चूडिय़ां उतारकर इसमें रखो। वे युवकों की बातों में ऐसी फंसीं कि चूडिय़ां उतारकर कागज में रख दीं। शातिरों ने बात करते समय ही कागज बदल दिया। इसके बाद वे कानों से कुंडल उतारने को कहने लगे। तब शशिबाला को उन पर कुछ शक हुआ। कॉलोनी के गेट पर बैठा चौकीदार भी वहां पहुंच गया। ऐसे में शातिर वहां से सोने की चूडिय़ां लेकर भाग गए। शशिबाला ने कागज खोलकर देखा तो उनकी चूडिय़ां नहीं थीं। शशिबाला के परिजनों ने पुलिस को घटना की सूचना दी। पुलिसकर्मी वहां पहुंचे और पूछताछ की तो मामला ठगी का निकला।

पहले भी हो चुकी है घटना

सीताराम कॉलोनी के बाहर इसी तरह की घटना एक वर्ष पहले भी हुई थी। शातिरों का गैंग सक्रिय है। यह बातों के जाल में फंसाकर महिलाओं के गहने उतरवाकर फरार हो जाता है। 

Posted By: Tanu Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस