आगरा, जागरण संवाददाता। दीवाली के लिए बाजार तैयार हो रहा है। हर ओर रौनक है और शोरूम और दुकानों में माल भी भरा हुआ है। दुकानों पर खरीदारी के साथ घर बैठे शॉपिंग भी बढ़ गई है। त्योहारी सीजन में अब शातिरों की भी व्यापारी और ग्राहक दोनों पर नजर है। साइबर शातिर ग्राहकों को लॉटरी और बोनस का लालच दे लोगों को फंसाने की कोशिश कर रहे हैं। दूसरी ओर चोर ताले तोड़कर माल पार कर रहे हैं।

साइबर शातिर ऐसे फैला रहे जाल

ऑनलाइन शॉपिंग साइट्स से खरीदारी करने वालों पर साइबर शातिरों की खास नजर है। ये किसी को कॉल करके लकी ड्रॉ निकलने का झांसा देते हैं तो किसी को एसएमएस भेजकर। किसी को सफारी कार तो किसी को पचास लाख रुपये की लाटरी निकलने की सूचना देते हैं। इसके भुगतान से पहले शातिर सर्विस चार्ज के रूप में कुछ रकम खाते में जमा करने को कहते हैं। कुछ लोग इनके जाल में फंसकर रुपये जमा कर देते हैं। व्यापारियों से शातिर सामान खरीदने की बात करते हैं। उनसे ऑनलाइन पेमेंट करने की बात करते हैं। गूगल पे या फोन पे से वे रिक्वेस्ट मनी की लिंक भेजते हैं। क्लिक करते ही शातिर खाते की रकम पार कर लेते हैं।

ये हैं बचाव

  • लुभावने वादों पर भरोसा न करें। लॉटरी आदि के झांसे में आकर किसी अंजान के खाते में रकम जमा न करें।
  • ऑनलाइन खरीदारी करते समय सतर्कता बरतें। शातिरों ने प्रतिष्ठित ऑनलाइन शॉपिंग साइट्स से मिलते-जुलते नाम से फेक साइट्स बना रखी हैं। इनसे खरीदारी करने पर खाता खाली होना तय है।
  •  किसी भी अंजान नंबर से आने वाली कॉल के प्रलोभन में न फंसे।
  •  व्यापारी किसी सामान को बेचने के लिए ऑन लाइन भुगतान प्राप्त करने के लिए किसी लिंक को क्लिक करने से पहले उसे पढ़ लें।

शहर के प्रमुख बाजारों पर नजर

दीपावली से पहले सराफा बाजार, इलेक्ट्रॉनिक्स और कपड़ा बाजार में भीड़ है। त्योहार के हिसाब से व्यापारियों ने सामान रख लिया है। इन सभी बाजारों पर शातिर चोरों की नजर है। दो दिन पहले सिकंदरा में एक मोबाइल शोरूम में 22 लाख की चोरी हो चुकी है। अन्य बाजारों में चोर लाखों की चोरी कर चुके हैं।

सुरक्षा और संरक्षा के करने होंगे इंतजाम

  •  व्यापारियों को अपने सामान और कैश को सुरक्षित रखने के लिए ध्यान देना होगा।
  • दुकान के बाहर सीसीटीवी कैमरे लगवाएं और लगे हुए हैं तो उनका व्यू और वर्किंग चेक कर लें, जिससे ये समय पर धोखा न दें।
  •  अपने प्रतिष्ठान की सुरक्षा का प्रबंध करें। अगर बाजार गेट बंद नहीं है तो पुलिस अधिकारियों से मिलकर पुलिस के रात्रि गश्त को आग्रह करें।
  •  अधिक समय तक दुकानें खुलने के कारण एक क्षमता से अधिक वायरिंग पर लोड पड़ जाता है। इससे आग लगने की संभावना बन जाती है। लोड का ध्यान रखें।

पुलिस ने भी की है तैयारी

एसएसपी बबलू कुमार ने बताया कि त्योहार को देखते हुए पुलिस ने पूरी तैयारी कर ली है। शहर में 40 से अधिक स्थानों पर अस्थाई पुलिस पिकेट लगाई गई है। इसके साथ ही मुख्य बाजारों में रात्रि गश्त, कैश मूवमेंट वाले स्थानों पर पुलिस फोर्स की तैनाती की गई है। उन्होंने व्यापारियों से अपील की है कि वे भी अपनी सुरक्षा का ध्यान रखें। अगर अधिक कैश उन्हें प्रतिष्ठान से बैंक ले जाना है तो पुलिस की मदद ले सकते हैं।  

Posted By: Prateek Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप