आगरा, जागरण संवाददाता। गुरुवार आधी रात को शहर में हादसे दर हादसे हुए। जागरण संवाददाता अली अब्‍बास ने जागरण के सुबह होने तक अभियान के चलतेे आधी रात को शहर की सुरक्षा व्‍यवस्‍था का जायजा लिया। जिसमें तमाम अव्‍यवस्‍थाओं के साथ ही शहर में दो हादसे भी सामने आए। जिसमें एक व्‍यक्ति की मौत हो गई।

मामले के अनुसार लोहामंडी के गोकुलपुरा निवासी 63 वर्षीय छोटेलाल देहली गेट पर होटल में खाना खाने के लिए गए थे। वहां से ऑनलाइन दोपहिया टैक्सी बुक करके घर लौट रहे थे। थाने के सामने सूरसदन की ओर से आती तेज रफ्तार मेटाडोर ने उन्हें टक्कर मार दी। छोटे लाल की मौत हो गई। बाइक चालक भी घायल हो गया। हादसे के बाद मेटाडोर चालक मौके से भाग निकला। उधर सिकन्दरा हाईवे पर गुरु का ताल गुरद्वारे के सामने सड़क पर पड़े पत्थर से टकरा कर ट्रक अनियंत्रत होकर पलट गया। इससे हाइवे पर ट्रैफिक जाम हो गया। ट्रक को क्रेन की मदद से हटाया गया।

पुलिस चौकी पर मिला ताला, सुरक्षा भगवान भरोसे

आधी रात को शहर नींद के आगोश में जा चुका था। न्यू आगरा बाइपास और मुगल पुलिया के पास पुलिस की गश्त करती गाड़ी मिली। पॉश कॉलोनी कमला नगर की सड़कों पर सन्नाटा पसरा था। सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की रोड से श्रीराम चौक होते हुए एफ ब्लॉक से बाइपास मार्ग पर पहुंचे। एक घंटे के दौरान पुलिस की कोई भी गाड़ी गश्त करती नहीं दिखी।

जागरण टीम इसके बाद वाटर वर्क्‍स चौराहे पर पहुंची। यहां पर महिलाएं बच्चों के साथ बसों का इंतजार करती मिलीं। महिला सुरक्षा के मद्देनजर चौराहे पर कोई पुलिस कवच नहीं मिला। इस चौराहे से डग्गामार वाहनों में सवारियों को बैठाकर लूटने की कई घटनाएं हो चुकी हैं। रात में सवारियों के सामने यह खतरा और अधिक बढ़ जाता है। इसके बाद टीम एमजी रोड पर पुलिस की सतर्कता का हाल देखने निकली। यहां पुलिस की एक भी गाड़ी गश्त करती नहीं मिली।

आगरा कॉलेज पुलिस चौकी पर ताला लगा था। जबकि पिछले वर्ष 17 मार्च को चौकी से एक किलोमीटर दूर सेंट जोंस चौराहे के पास फुटपाथ पर दादी के पास सोती आठ वर्षीय बालिका को विधि छात्र हरीश अगवा करके ले गया था। दुष्कर्म के बाद उसकी हत्या करके लाश को आगरा कॉलेज के मैदान में फेंक दिया था। एमजी रोड पर लगे सीसीटीवी फुटेज की मदद से पुलिस आरोपित तक पहुंची थी।

बेसहारा पशुओं का डेरा

कमला नगर में सड़कों किनारे बेसहारा पशुओं का डेरा मिला। ये पशु रात में निकलने वाले तेज रफ्तार वाहनों के लिए हादसे का सबब भी बन सकते हैं। कई बार बेसहारा पशु अचानक वाहनों के सामने आ जाते हैं जिससे हादसे भी हो जाते हैं।

चौराहे पर आधी रात को भी जाम

वाटर वर्क्‍स चौराहे पर रोडवेज बसों के चलते आधी रात को भी जाम लगा हुआ था। पुलिस की गैर मौजूदगी में चालकों की अराजकता और बढ़ जाती है। कई परिचालक तो चौराहे पर ही बस खड़ा करके सोते मिले।

दरअसल चौराहे बाहर से आने वाली बसें रात में सीधे फ्लाई ओवर से न जाकर सर्विस रोड से होकर जाती हैं। यहां पर सवारियां भी उतरती हैं और लोग यहीं से बस में सवार भी होते हैं। एक साथ कई बस आने से जाम की स्थिति बन जाती है।

ठंड से बचने के लिए कूड़े को बनाया अलाव

वाटर वर्क्‍स चौराहे पर वाहनों का इंतजार करती सवारियों ने ठंड से बचने के लिए वहां पड़े कूड़े को अलाव बना लिया था। उसे जलाकर आग तापने लगे। टीम जागरण से उनका कहना था कि ठंड से बचने के लिए नगर निगम को अलाव को इंतजाम करना चाहिए।

नींद की पहरेदारी

एमजी रोड के फुटपाथ पर सोती बालिका को अगवा करके दुष्कर्म और हत्या की घटना के बाद अब नींद पर भी पहरेदारी होती है। महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा के चलते परिवार के पुरुष शिफ्ट में सोते हैं। एक व्यक्ति के जागने के बाद ही दूसरा सोता है। एमजी रोड के फुटपाथ पर करीब दो दर्जन महिलाएं और बच्चे अपनी रात गुजारते हैं।

 

Posted By: Tanu Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस