आगरा, जागरण संवाददाता। स्वास्थ्य कर्मियों को शुक्रवार सुबह कोरोना वैक्सीन लगना शुरू हो गया। 26 केंद्रों पर कोरोना वैक्सीन लगाई जा रही है। 25 केंद्रों पर कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड लगाई जा रही है, जबकि जालमा कुष्ठ एवं अन्य माइकोबैक्टिरियल रोग संस्थान में कोवैक्सीन लगाई जा रही है। सीएमओ डा आरसी पांडे ने बताया कि शहर और देहात के 26 केंद्रों पर कोरोना वैक्सीन लगाई जा रही है। एसएन में चार केंद्र बनाए गए हैं। कुछ केंद्रों पर दो सत्र में वैक्सीन लगाई जाएगी। इस तरह 38 सत्र में 3800 स्वास्थ्य कर्मियों को शाम पांच बजे तक वैक्सीन लगाई जानी है।

सीएमओ डा. पांडेय ने बताया कि कोविड-19 टीकाकरण शुक्रवार को सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक किया जा रहा है। इसमें स्वास्थ्य अधिकारियों और कर्मचारियों को कोविड-19 टीका से प्रतिरक्षित किया जाएगा। उन्होंंने कहा कि कोविन पोर्टल पर पंजीकृत सभी लोग आज टीकाकरण केंद्र पर समय से पहुंचे। क्योंकि टीका की एक शीशी से 10 लोगों को डोज़ होत है। शीशी खुलने के बाद एक नियत समय तक ही उसको उपयोग में ला सकते हैं। उन्होने स्पष्ट कि कोविड–19 का यह टीका सबसे सुरक्षित टीका है। यह शरीर पर किसी तरह का प्रतिकूल प्रभाव नहीं छोड़ता है। उन्होने बताया कि शुक्रवार को जिले में 25 केन्द्रों पर 37 सत्र आयोजित किए जा रहे हैं। इस दौरान जनपद के 3800 लोगों को प्रतिरक्षित किया जाएगा। 16 जनवरी को जिन लोगों को प्रतिरक्षित किया गया है। उनका अगला डोज 15 फरवरी निर्धारित है। कोरोना का टीका लगने के बाद यदि तबीयत ठीक न लगना, थकान महसूस होना, कंपकंपी या बुखार सा महसूस होना, सिर दर्द, मितली, जोड़ो या मांसपेशियों में दर्द की समस्या आ रही है तो इसका मतलब यह टीका शरीर पर असर कर रहा है।

टीका लगवाने से पहले दें पूरी जानकारी

टीका लगवाने से पूर्व यदि एलर्जी, बुखार, रक्त बहने या रक्त पतला करने की कोई दवा ले रहे हैं, या प्रतिरक्षा क्षमता कम है तो संबंधित स्वास्थ्य अधिकारी को जानकारी दें। गर्भवती या स्तनपान करा रही महिलाओं को भी टीका लेने से पहले स्वास्थ्य अधिकारी पूरी जानकार देनी चाहिए। सीरम इंस्टीट्यूट की फैक्टशीट के अनुसार कोविशील्ड टीका 18 वर्ष और उससे अधिक उम्र के लोगों के लिए है। यह टीका उन लोगों को नहीं लगना है जिन्हें पहली खुराक के बाद गंभीर रूप से एलर्जी हुई हो। इसके लिए चिकित्सक से परामर्श लें। कोविशील्ड से जुड़े प्रतिकूल प्रभाओं को लेकर सामान्य तौर पर तबीयत गड़बड़ लगना, थकान महसूस होना, कंपकंपी या बुखार सा महसूस होना, सिर दर्द, मतली, जोड़ो या मांसपेशियों में दर्द की शिकायत आम हो सकती है। वैक्सीन लगने के बाद कुछ घंटों में यदि कोई साइड इफेक्ट दिखता है तो इस बारे में वैक्सीन लगाने वाले को तत्काल जानकारी दें।

शहर में यहां हो रहा वैक्‍सीनेशन

- एसएन मेडिकल कालेज

- जालमा कुष्ठ एवं अन्य माइकोबैक्टीरियल रोग संस्थान

- जिला अस्पताल

- लेडी लायल जिला महिला चिकित्सालय

- पुष्पांजलि हास्पिटल

- रेनबो हास्पिटल

- सिनर्जी प्लस हास्पिटल

- कमलेश टंडन नर्सिंग होम

- स्पर्श मल्होत्रा नर्सिंग होम

- श्री कृष्णा नर्सिंग होम

- रवि हास्पिटल

देहात में यहां हो रहा वैक्‍सीनेशन

- बाह

- फतेहाबाद

- शमसाबाद

- बरौली अहीर

- एत्मादपुर

- खंदौली

- अकोला

- जैतपुर कला

- पिनाहट

- बिचपुरी

- फतेहपुर सीकरी

- सैंया

- खेरागढ

- जगनेर

- अछनेरा

आगरा को मिली कोरोना वैक्सीन

- कोविशील्ड 26280 डोज

- कोवैक्सीन 448 डोज

अभी तक लग चुकी हैं कोरोना वैक्सीन 361 डोज 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप