आगरा, जागरण संवाददाता। कोरोना संक्रमण के कारण स्कूल बंद हैं, तो शासन ने परिषदीय स्कूलों के विद्यार्थियों को पढ़ाने के लिए मोहल्ला क्लास की शुरूआत कराई है। लेकिन इन कक्षाओं में शारीरिक दूरी और मास्क की अनिवार्यता के नियम को हवा में उड़ाया जा रहा है।

इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो रहे एक फोटो में एक शिक्षा मित्र प्राथमिक स्कूल इस्लाम नगर के विद्यार्थियों को मोहल्ला क्लास लगाकर पढ़ाते दिख रहे हैं। शिक्षा मित्र ने स्वयं की सुरक्षा के लिए तो मास्क लगाया हुआ है, लेकिन कोरोना प्रोटोकाल का पालन न तो विद्यार्थियों व उनके स्वजन को सिखाया और न ही मास्क लगवाया। शारीरिक दूरी के नियम का पालन भी नहीं कराया।

क्षेत्रीय लोगों में नाराजगी

विद्यार्थी स्कूल नहीं जा रहे, ऐसे में शिक्षक व शिक्षा मित्रों के घर पर आकर मोहल्ला क्लास लगाने का चलन सभी को खूब भा रहा है और वह इसकी तारीफ भी कर रहे हैं, लेकिन मोहल्ला क्लास में कोरोना प्रोटोकाल को लेकर लापरवाही और विद्यार्थियों को नियमों के प्रति जागरूक करने के नाम पर इस तरह की लापरवाही को वह गंभीर बता रहे हैं। उनका कहना है कि ऐसे तो विद्यार्थियों व उनके स्वजन में संक्रमण फैलने की आशंका बन सकती है।इसके लेकर उन्होंने अधिकारियों से भी शिकायत की है।

यह हैं निर्देश

शासन ने सभी शिक्षकों व शिक्षा मित्रों को निर्देश दिए हैं वह नियमित रूप से मोहल्ला क्लास लें और विद्यार्थियों को उनकी कक्षा के पाठ्यक्रम के हिसाब से सबक याद कराने के साथ उन्हें सिखाए। इसके साथ स्वच्छता, स्वास्थ्य व कोरोना संक्रमण से खुद के बचाव के नियमों के प्रति भी विद्यार्थियों को जागरूक किया जाए।

इस्लाम नगर का मामला संज्ञान में आया है। यह लापरवाही है। इसे रोकने के लिए सभी को सख्त निर्देश जारी किए जाएंगे।

ब्रजराज सिंह, प्रभारी जिला बेसिक शिक्षाधिकारी।

 

Edited By: Tanu Gupta