आगरा, जेएनएन। प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार की रिहाई को लेकर बुधवार को कांग्रेसियों ने मथुरा कलक्ट्रेट में जोरदार प्रदर्शन किया। कांग्रेसियों को देख कलक्ट्रेट के गेट बंद कर पुलिस और पीएसी तैनात कर दी गई। गेट खोलकर कांग्रेसी अंदर घुस गए और डीएम को ज्ञापन देने उनके कक्ष पहुंचे। यहां डीएम से कांग्रेसियों की जमकर बहस हुई। बाद में जिलाध्यक्ष समेत नौ कांग्रेसियों को हिरासत में लेकर पुलिस लाइन ले जाया गया। देर शाम कांग्रेसियों के खिलाफ धारा 151 की कार्रवाई कर उन्हें जेल भेज दिया गया।

राजस्थान से उत्तर प्रदेश सीमा में कांग्रेस ने बीते दिनों बसें भेजी थीं। इन बसों को उत्तर प्रदेश सीमा में प्रवेश नहीं दिया गया तो कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने समर्थकों संग आगरा के फतेहपुरी सीकरी में प्रदर्शन किया था। तब उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था। जेल में बंद प्रदेश अध्यक्ष की रिहाई को लेकर कांग्रेसियों ने जिलाध्यक्ष दीपक चौधरी की अगुवाई में कलक्ट्रेट में प्रदर्शन किया। कांग्रेसियों को आता देख कलक्ट्रेट का मुख्य द्वार बंद कर दिया गया। यहां पुलिस और पीएसी तैनात कर दी गई। बाद में कुछ कांग्रेसियों को अंदर जाने की अनुमति दी गई, लेकिन ज्यादा कांग्रेसी कलक्ट्रेट परिसर में घुस गए। इसे लेकर डीएम सर्वज्ञराम मिश्रा से कांग्रेसियों की बहस भी हुई। बाद में जिलाध्यक्ष दीपक चौधरी, महानगर अध्यक्ष उमेश शर्मा, प्रदेश सचिव मुकेश धनगर, विक्रम वाल्मीकि, महिला जिलाध्यक्ष नीलम कुलश्रेष्ठ, महिला महानगर अध्यक्ष शालू अग्रवाल, प्रवीण ठाकुर, प्रवीण भाष्कर और यतेंद्र मुकद्दम को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। इन्हें पुलिस पुलिस लाइन ले गई। कांग्रेसियों के खिलाफ पुलिस ने सदर थाना में धारा 151 के तहत मामला दर्ज किया और जिला अस्पताल में मेडिकल परीक्षण कराया। यहां से उनके कागजात सिटी मजिस्ट्रेट मनोज कुमार सिंह के समक्ष पेश किए गए। मजिस्ट्रेट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में उन्हें जेल भेज दिया। शाम साढ़े पांच बजे कांग्रेसियों को रतनलाल फूल कटोरी स्थित अस्थाई जेल ले जाया गया। सिटी मजिस्ट्रेट ने बताया कि नौ कांग्रेसियों को जेल भेजा गया है।

 

Posted By: Tanu Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस