आगरा, जेएनएन। मथुरा हो रही कांग्रेस की किसान पंचायत को संबोधित करने के लिए कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव तथा उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा पहुंच चुकी हैं। पंचायत में पहुंचने के कुछ ही देर बाद प्रियंका ने अपना भाषण शुरू कर दिया है। बिहारी जी और राधे रानी के जयकारे के साथ प्रियंका ने अपना संबोधन शुरू किया। उन्होंने कहा कि ये उनका सौभाग्य है कि वो आज पवित्र धरती पर खड़ी हैं। किसान आंदोलन पर प्रियंका ने कहा कि लाखाें किसानों ने अपने बेटों को सीमा पर शहीद होने भेजा है। 90 दिनों से अपने हक की लड़ाइ किसान लगातार लड़ रहे हैं। सरकार ने प्रताड़ित किया लेकिन बात नहीं सुनी। न किसानों से बात करने आए और न ही किसी को भेजा। जब नेता का अहंकार बढ़ जाता है तो वो जनता से अलग हो जाता है। इनका विवेक मर गया है। भगवान कृष्ण इनका अहंकार तोड़ेंगे। जिस सरकार ने किसानों से तमाम वादे किये थे उसके लिए आपने कुछ नहीं किया। गन्ना किसानों का बकाया 15 हजार रुपये है। पीएम ने दो हवाइ जहाज अपने लिये खरीदें हैं। उनकी कीमत 16000 करोड़ है। पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ रहे हैं। 

प्रियंका ने आगे कहा कि जैसे ही इनकी नीति निर्णय पर सवाल उठता है, एकदम पीछे होते हैं और जिम्मेदारी नहीं लेते। दूसरी सरकारों पर डालते हैं। पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ाये तो पिछली सरकारों को दोष देते हैं। पूरे देश को बेच दिया। अगर पिछली सरकारें न बनातीं तो आप बेचते क्या। मोदी जी की सबसे बड़ी उपलब्धि यही है बड़ी निष्ठा से खरबपति मित्रों को मजबूत बनाया है। आज देश देख रहा है किसान संघर्ष कर रहा है। किसानों जब तक आप लड़ते रहोगे तब तक मैं लड़ती रहूंगी। मेरी सरकार आते ही इन कानूनों को सबसे पहले रोक दिया जाएगा। इस सरकार को खत्म करने के लिए मैं संघर्ष करूंगी। शहीद किसानों के लिए दो मिनट का मौन रखवाया गया। इसके बाद प्रियंका बिहारी जी के दर्शन के लिए रवाना हो गइं।  

महापंचायत पालीखेड़ा मैदान में चल रही पंचायत में राष्ट्रीय महासचिव के साथ मंच पर राज्यसभा सदस्य दीपेंद्र हुड्डा, प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, प्रमोद तिवारी, राशिद अल्वी, नसीमुद्दीन सिद्दीकी, प्रदीप जैन आदित्य भी मौजूद हैं। 

बिहारी के द्वार टेका माथा 

कांग्रेस का उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री चेहरा प्रियंका गांधी वाड्रा इन दिनों बेहद धार्मिक हो गई हैं। उत्तर प्रदेश में अपने दौरे पर मंदिरों के साथ मजारों पर भी माथा टेक रही हैं। अब मंगलवार को मथुरा में किसान पंचायत के बाद वे ठाकुर बांके बिहारी मंदिर पहुंची। यहां उन्होंने मंदिर की देहरी का पूजन किया। पूरी श्रद्धा के साथ प्रियंका ने यहां माथा टेका और सेवायतों के निर्देश के अनुसार ही पूजन किया। 

बता दें कि उत्तर प्रदेश में सहारनपुर के दौरे में मां शाकुंभरी के दर्शन के साथ ही मजार पर माथा टेकने वाली प्रियंका गांधी ने प्रयागराज के संगम में डुबकी लगाने के साथ मनकामेश्वर मंदिर में जाकर दर्शन-पूजन किया। इसके बाद अब कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा वृंदावन ठाकुर बांकेबिहारी मंदिर में भी माथा टेका है। किसानों से जुड़े मुद्दे को लेकर प्रियंका गांधी वाड्रा सॉफ्ट हिंदुत्व का रास्ता अपना रही हैं। 

कांग्रेस महासचिव के प्रदेश के धार्मिक स्थलों की ओर रुख करने के बाद से यह कयास लगाए जा रहे थे कि कान्हा की नगरी में प्रियंका वाड्रा ठाकुर बांकेबिहारी के मंदिर या कुंभ पूर्व वैष्णव बैठक जा सकती हैैं। सोमवार को उनके निजी सचिव संदीप सिंह, पश्चिमी उत्तर प्रदेश प्रभारी रोहित चौधरी, अखिल भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस सचिव धीरज गूजर ने यहां पार्टीजनों के साथ मंथन कर कार्यक्रम को फाइनल किया।