आगरा, जागरण संवाददाता। यमुना एक्सप्रेस वे पर सोमवार को हुए हादसे के बाद एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण ने टोल कंपनी पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। लखनऊ में मुख्यमंत्री की बैठक के बाद प्राधिकरण के अधिकारियों ने स्पष्ट कहा कि टोल कंपनी को दिल्ली आइआइटी की रिपोर्ट के अनुसार एक्सप्रेसवे की संरक्षा का काम करना होगा। यदि चार अगस्त से पूर्व कार्य नहीं हुआ तो कंपनी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। कंपनी के कार्यों की रिपोर्ट सुनवाई के दौरान चार अगस्त को सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की जाएगी।

प्राधिकरण के महाप्रबंधक केके सिंह ने बताया कि सड़क सुरक्षा को लेकर लखनऊ में बैठक हुई। इसमें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों व यमुना एक्सप्रेस वे का संचालन कर रही जेपी ग्र्रुप कंपनी के अधिकारियों को हिदायत दी है।

महाप्रबंधक ने बताया कि दिल्ली आइआइटी की रिपोर्ट के बाद टोल कंपनी ने मार्ग पर सभी सुविधाएं पर्याप्त होने का दावा किया था। इसलिए जांच के लिए गुरुवार से प्राधिकरण की चार सदस्यीय टीम ने एजीएम एके अरोरा के नेतृत्व में एक्सप्रेस वे पर क्रेन, एंबुलेंस, फायर कंट्रोल यूनिट, पेट्रोलिंग वाहन, ब्रीद एनालाइजर, सीसीटीवी कैमरे, स्पीड गन व कैमरे, शिकायत दर्ज कराने की व्यवस्था आदि की जांच शुरू कर दी है। यह टीम बुधवार को वरिष्ठ अधिकारियों को रिपोर्ट सौंपेगी। ज्ञात हो कि करीब एक महीने पहले कंपनी ने संरक्षा पर खर्च होने वाले पैसे के लिए टोल की दरें बढ़ाने की बात कही थी। उसे प्राधिकरण बोर्ड ने खारिज कर दिया था।

ये है मामला

महाप्रबंधक केके सिंह के अनुसार बीओटी (बिल्ट ऑपरेट ट्रांसफर) नीति के तहत एक्सप्रेस वे का निर्माण हुआ है। इस पर करीब 12 हजार करोड़ रुपये की लागत आई थी। जेपी इंफ्राटेक को 36 वर्षों के लिए एक्सप्रेस वे पर टोल वसूली का अधिकार है। एक्सप्रेस वे की सुरक्षा एवं संचालन की जिम्मेदारी भी जेपी इंफ्राटेक पर है। एक्सप्रेस वे की सुरक्षा को लेकर हमेशा सवाल उठते रहे हैं। चार सिंतबर 2018 को सुप्रीमकोर्ट के आदेश के बाद दिल्ली आइआइटी की टीम ने यमुना एक्सप्रेस वे की संरक्षा को लेकर अपनी रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट में जमा की थी। इस रिपोर्ट पर चार जुलाई को सुप्रीम कोर्ट में प्राधिकरण की ओर से जवाब दाखिल किया गया। अगली सुनवाई चार अगस्त को होनी है। उन्होंने बताया कि समिति एक्सप्रेस वे पर दी जाने वाली सुविधाओं की जांच करेगी।  

Posted By: Tanu Gupta