आगरा, जागरण संवाददाता। ताजमहल की तर्ज पर आगरा किला के बाहर नगर निगम प्रशासन सफाई कराएगा। इसका ठेका निजी कंपनी को दिया जाएगा या फिर प्रशासन अपने स्तर से कार्य कराएगा। इसका निर्णय जल्द होने होगा। फिलहाल निगम प्रशासन सफाई कराने का प्रस्ताव मंगलवार दोपहर शासन को भेजेगा। आगरा किला का इसी साल फरवरी में आइकोनिक साइट में चयन हुआ है। स्वच्छ भारत मिशन में देश के सौ स्थलों की सफाई पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। यह ऐसे स्थल हैं जो धार्मिक या फिर सांस्कृतिक महत्व के चलते जाने जाते हैं। इनके दीदार के लिए हर दिन बड़ी संख्या में देशी और विदेशी पर्यटक आते हैं। नगरायुक्त निखिल टीकाराम ने बताया कि आगरा किला, बांके बिहारी मंदिर सहित 12 स्थलों का चयन चौथे चरण में किया गया है। इसमें निगम प्रशासन को नोडल एजेंसी बनाया गया है। किला के सामने छावनी परिषद का क्षेत्र भी आता है। उन्होंने बताया कि आगरा किला के बाहर मशीनों से सफाई कराई जाएगी। इससे धूल नहीं उड़ेगी। नियमित अंतराल में पानी का छिड़काव कराया जाएगा। रात्रिकालीन सफाई से भी इन्कार नहीं किया जा सकता है।

स्वच्छ सर्वेक्षण-2022: सर्वे के लिए जनवरी में आ सकती है केंद्रीय टीम

स्वच्छ सर्वेक्षण-2022 के लिए नगर निगम आगरा में जनवरी 2022 में केंद्रीय टीम आ सकती है। निगम प्रशासन ने इसकी तैयारियां शुरू कर दी हैं। सर्वेक्षण-2021 में देश में नगर निगम आगरा 24वें नंबर पर रहा था। नगरायुक्त निखिल टीकाराम ने बताया कि शहर को चार जोन हरीपर्वत, लोहामंडी, छत्ता और ताजगंज में बांटा गया है। हर जोन में जल्द ही बीट सिस्टम लागू किया जाएगा। फिलहाल इसका प्रस्ताव तैयार कराया जा रहा है।

122 स्वामियों ने 9.94 लाख रुपये का जमा कराया टैक्स

नगर निगम प्रशासन द्वारा सोमवार सुबह दस से तीसरे पहर पांच बजे तक काला महल पानी की टंकी के पास हाउस टैक्स जमा कराने का शिविर लगाया गया। इसमें 122 भवन स्वामियों ने 9.94 लाख रुपये जमा कराए। पार्षद रवि माथुर ने बताया कि जल्द ही कई अन्य क्षेत्रों में शिविर लगाए जाएंगे।

Edited By: Prateek Gupta