आगरा, जेएनएन। बांकेबिहारी की नगरी में मंगलवार को दर्दनाक हादसा हुआ। शहर के गौतमपाड़ा की एक निजी गोशाला में अपनी मां के साथ गोसेवा करने पहुंचेे सात साल के बालक की जान एक बिदकी गाय के कारण चली गई। गाय बिदकी तो बालक का हाथ उसकी जंजीर में फंस गया। गोशाला में गाय उसे घसीटती रही। दीवार और जमीन से टकराने के कारण बालक की मौत हो गई।

गौतमपाड़ा निवासी संजयबल्लभ गौतम की गोशाला में बंधी गायों की सेवा करने के लिए गौतमपाड़ा में ही रहने वाला भोलू (7) मां रीमा के साथ गया था। बालक एक गाय की जंजीर खोलकर बाहर बांधने के लिए लाया ही था कि तभी गाय बिदक गई। बालक का हाथ जंजीर में फंस गया। गाय दौड़ी तो भोलू भी जंजीर में फंसकर घसिटता रहा। 10 मिनट तक घिसटने के कारण कई बार जमीन और दीवार पर भोलू का सिर टकराया। जब तक गाय शांत हुई, भोलू गंभीर चोट लगने के कारण बेहोश हो गया था। किसी तरह आसपास के लोगों ने जंजीर से बालक का हाथ निकाला और उसे अस्पताल ले गए। यहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। समाचार लिखे जाने तक इस मामले में कोई रिपोर्ट दर्ज नहीं कराई गई थी। बालक की मौत से घर में कोहराम मच गया।

 

Posted By: Tanu Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप