आगरा, जागरण संवाददाता। आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे पर शुक्रवार को सुबह कोहरे के कारण दृश्यता बहुत कम थी। इटावा की ओर से आगरा आ रही कार कोहरे के चलते आगे चल रहे ट्रक में जा घुसी। इसके बाद काफी दूर तक ट्रक के पीछे ही कार घिसटती गई। एक महिला कार से कूद गई। जबकि अन्य उसी में फंसे रहे। काफी देर बाद उन्हें निकाला जा सका। तब तक कार सवार पिता की मौत हो गई। जबकि बेटे, बहू, बेटी और धेवती घायल हो गईं। पुलिस ने सभी को हास्पिटल में भर्ती कराया है।

शमसाबाद के गढ़ी रामपाल निवासी अजय जादौन शुक्रवार सुबह इटावा के विधूना से अपनी भाभी बीनू, बहन ज्योति और भांजी माही को लेकर अपने गांव के लिए आ रहे थे। लखनऊ एक्सप्रेस वे के रास्ते से वे आगरा की ओर आ रहे थे। घना कोहरा था, जिसके कारण फतेहाबाद क्षेत्र में माइल स्टोन 36 पर कार आगे चल रहे ट्रक से जा टकराई। ट्रक तेज रफ्तार में चल रहा था। कार पीछे से टकराने के बाद ट्रक में फंस गई। इसलिए कार ट्रक के पीछे करीब चार सौ मीटर तक घिसटती गई। ट्रक काे एक्सप्रेस वे पर ही छोड़कर चालक और क्लीनर फरार हो गए। बीनू चलती कार से ही नीचे कूद गईं। जबकि परिवार के अन्य लोग फंसे रहे। राहगीरों ने पुलिस को सूचना दी। इसके बाद पुलिस टीम मौके पर पहुंचीं। इसके बाद घायलों को बाहर निकाला गया। तब तक रामसरन की मौत हो गई। अन्य सभी घायलों को पुलिस ने हास्पिटल भेज दिया। इंस्पेक्टर फतेहाबाद आलोक कुमार सिंह का कहना है कि ट्रक चालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर विधिक कार्रवाई की जा रही है।

Edited By: Prateek Gupta