आगरा, जेएनएन। नागरिकता संशोधन कानून। देश, प्रदेश और बृज में विरोध के चलते हुए बवाल की लपटें अब शांत हो रही हैं। इस कानून को लेकर जनता के बीच जो भ्रांतियां फैली हुई हैं, उन्हें दूर करने के लिए भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह समेत दिग्गज सियासी सितारे ताजनगरी के कोठी मीना बाजार ग्राउंड में हैं। वहां सीएए के समर्थन में सभा कर रहे हैं।

सामान्य शब्दों में यह संदेश दिया जा रहा है कि इस कानून से घबराने की जरूरत नहीं है। यह जनता का ही कानून है और देश की जनता की रक्षा करने वाला ही कानून है।

योगी आदित्यनाथ सरकार अब नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शनकारियों से सख्ती से निपटने की तैयारी में है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अब प्रशासन अपनी शैली में इसका हल ढूंढेगा। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन से उत्तर प्रदेश पुलिस अपने अंदाज में निपटेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि कायर लोगों ने महिलाओं को आगे कर दिया है और पुलिस ऐसे लोगों को नहीं छोड़ेगी। कायर लोगों ने अब महिलाओं और बच्चों को आगे कर दिया है, लेकिन चिंता मत करो, सरकार और प्रशासन अपनी शैली में इसका हल ढूंढेगा। सभी को विरोध करने का अधिकार है, लेकिन देश विरोधी गतिविधियां बर्दाश्त नहीं की जाएंगी।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जो लोग सिमी और पीएफआई के बुलावे पर कल तक हर जगह आग लगा रहे थे, उन्हें अब यह पता चल गया है कि उनकी अवैध संपत्तियों को जब्त कर लिया जाएगा। इसी कारण उन्होंने अपनी महिलाओं और बच्चों को आगे कर दिया है। उन्होंने कहा कि अशांति फैलाने की कोशिश की जा रही है। अराजकता फैलाने वालों आप लोग चिंता मत करो! सरकार और प्रशासन अपनी शैली में इसका हल ढूंढेगा। सभी को अपनी बात रखने और विरोध करने का अधिकार है, लेकिन इसके बहाने देश विरोधी गतिविधियों में लिप्त होने की स्वतंत्रता किसी के पास नहीं है।

सर्दी के मौसम में धूप कई दिनों बाद आज चटख खुली है। भीड़ से खचाखच भरे मैदान में भाजपा अध्‍यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने ब्रज की धरती को नमन करते हुए कहा कि आगरा से मेरा जुड़ाव है। इसलिए पार्टी का अध्‍यक्ष बनने के बाद पहली सभा भी आगरा में ही कर रहा हूं। उन्‍होंनेे कहा कि ये कानपुर से बड़ी सभा है। भारत के हित में प्रधानमंत्री मोदी ने कई बड़े फैसले लिए हैंं। पिछले कई सालों में भारत की राजनीति में आजादी के बाद लिए गए निर्णयों से नुकसान ही पहुंचा है। उन्‍होंने कहा कि लम्‍हों ने खता की और सदियों ने सजा पाई। 2019 में 303 सांसद जीतकर आए, तब पीएम मोदी को ताकत मिली। उन्‍होंने इच्‍छाशक्ति दिखाई और आठ महीने में ही पुरानी समस्‍याओं को खत्‍म कर दिया। एक फैसला लिया गया था देश के बंटवारे का। इस फैसले ने 20वीं शताब्‍दी में सबसे ज्‍यादा नरसंहार किया। लोग लाखों की संपत्ति छोड़कर भारत आए। पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने 18 दिसंबर 2003 में राज्‍यसभा में कहा था बांग्‍लादेश में हिंदुओं की प्रताड़ना हो रही और उन्‍हें भारत में बसाना चाहिए। जानकर आश्‍चर्य होगा लियाकत और नेहरू के पैक्‍ट में यह तय हुआ था कि भारत में मुसलमानों की रक्षा भारत करेगा और पाकिस्‍तान में हिंदुओं की रक्षा पाकिस्‍तान सरकार करेगी। उस समय पाक में अल्‍पसंख्‍यकों की आबादी 23 फीसद थी और अब केवल तीन फीसद है।

आजकल दलित नेताओं को देखकर दुख होता है कि सीएए पर राजनीति कर रहे हैं। भारत में 80 फीसद दलित हैं, जिन्‍हें नागरिकता प्रदान की जा चुकी है। कांग्रेस नागरिकता के मुद्दे पर मुस्लिमों को भड़का रही है। राहुल गांधी को चुनौती देते हुए उन्‍होंने कहा कि वे 10 लाइनें सीएए पर बोल दें तो हम मान जाएंगे। ये दल उत्‍तर प्रदेश और देश में दंगे फैलाने की साजिश रच रहे हैं। ये देश को अस्थिर करना चाहते हैं। सीएए की बात करूं तो जो लोग बांग्‍लादेश, पाकिस्‍तान और अफगानिस्‍तान में प्रताडि़त हुए उन्‍हेें भारत की नागरिकता देना तय हुआ है। मान लीजिए 20 साल पहले कोई चिकित्‍सक भारत आया, वह यहां प्रेक्टिस नहीं कर सकता क्‍योंकि उसके पास पाकिस्‍तान की डिग्री है। वे प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ नहीं ले सकतेे थे। अब उन्‍हें नागरिकता देने की व्‍यवस्‍था मोदी सरकार ने की है। इससे कांग्रेस समेत दूसरे दल हताश हो चुके हैं। देश हित में मोदी सरकार द्वारा किए गए कार्यों को सराहने की ताकत कांग्रेस में नहीं है। मोदी के नेतृत्‍व में भारत तीव्र गति से आगे बढ़ेगा। उन्‍होंने अपने उद्बोधन के अंत में नागरिकों से 8866288662 पर मिस कॉल कर सीएए का समर्थन करने की अपील की।  

सभा में मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष जेपी नड्डा का अभिनंदन करते हुए कहा कि स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री रहते हुए उन्‍होंने आयुष्‍मान भारत जैसी जनोपयोगी योजना आरंभ कराई, देश में 15 मेडिकल कॉलेज की स्‍थापना कराई। चुनाव के दौरान उन्‍होंने जिस कुशलता से रणनीति को अंजाम दिया, उसी का नतीजा है कि भाजपा को पूर्ण बहुमत मिला। कार्यकर्ताओं के मन में उनका विशेष स्‍थान है।

आदर्श और मूल्यों को बढ़ाने के साथ साथ भारत की प्रतिष्‍ठा को विश्व मेंं प्रधानमंत्री मोदी ने बढ़ाया है। पीएम मोदी ने न्यू इंडिया का संकल्प लिया, जिसके चलते ही आज ईरान और अमेरिका के बीच मध्यस्थता भारत कर रहा है। सपा, बसपा और कांग्रेस जिनकी लूट की दुकान बंद हो रही हैंं, वे सीएए पर भ्रम फैला रहे हैंं। भारत की परंपरा और विरासत को अपमानित करके ये राजनीतिक दल जिन मुद्दों के साथ आगे बढ़े थे और चाहते थे, उन मुद्दे को पीएम मोदी ने समाप्‍त किया। कश्मीर में धारा 370 समाप्‍त होना आतंकवाद का खात्मा है। इसलिए विपक्ष पाकिस्तान की भाषा बोल रहा है। पीएम मोदी के नेतृत्व के राम मंदिर का निर्माण हुआ। इसके लिए हम सौभाग्‍यशाली है। मंच से सीएए की खिलाफत कर रहे लोगों को सीएम योगी ने दो टूक शब्‍दों में संदेश दिया कि देश में रहकर देश के खिलाफ नारेबाजी करने वालों पर देशद्रोह का मुकदमा लगाया जाएगा। 

मंच से डिप्‍टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने मैदान में लहराते ध्‍वज को देखकर कहा कि अभी तो ये झंडा कश्‍मीर में लहराया है। जल्‍द ही पाक अधिकृत कश्‍मीर में भी भारतीय ध्‍वज लहराता नजर आएगा। अनुच्‍छेद 370 लागू होने के बाद अब अमरनाथ यात्रा बिना किसी डर के होगी। उन्‍होंने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून के विरोध की आड़ में कांग्रेस, सपा और बसपा हिंसा करा रहे हैं। भाजपा विरोध के खिलाफ नहीं बल्कि सड़कों पर विरोध के बहाने सड़कों पर की गई तोड़फोड़, लूट और आगजनी के खिलाफ है। पीएफआइ का हाथ भी सामने आ चुका है, इनके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। देश की जनता राहुल गांधी को प्रधानमंत्री उम्‍मीदवार के रूप नकार चुकी है। अमेठी से हुई हार इस बात का प्रमाण है। लेकिन इटली वाली मां को अब भी ये बात समझ नहीं आ रही है। 

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून देश के लोगों के हितों की रक्षा करने के लिए है। मुस्लिमों के त्‍योहार देश में शांतिपूर्ण अंदाज में मनाए गए। लेकिन इस कानून के विरोध में जो हिंसा हुई, उसके पीछे सीधे तौर पर विपक्ष का राजनीतिक हित था। 

प्रदेश के वित्त, संसदीय कार्य एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना, यूपी स्टेट कंस्ट्रक्शन एंड इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट कॉरपोरेशन के अध्यक्ष बीएल वर्मा, प्रदेश के आबकारी और मद्य निषेध विभाग मंत्री राम नरेश अग्निहोत्री, चिकित्सा शिक्षा एवं प्राविधिक शिक्षा राज्य मंत्री संदीप सिंह, भाजपा के जन जागरण सभा संयोजक शिवशंकर शर्मा, जिला अध्यक्ष गिर्राज सिंह कुशवाहा, महानगर अध्यक्ष भानु महाजन के साथ-साथ सांसद राजकुमार चाहर, एसपी सिंह बघेल, राज्यमंत्री चौ. उदयभान सिंह, राज्यमंत्री डा. जीएस धर्मेश, विधायक पुरुषोत्तम खंडेलवाल, योगेंद्र उपाध्याय, हेमलता दिवाकर, मेयर नवीन जैन मुख्य रूप से उपस्थित हैं।   

120 मीटर लंबा तिरंगा आकर्षण का केंद्र

सभा स्‍थल पर बजरंग दल के कार्यकर्ता 120 मीटर लंबा तिरंगा लेकर पहुंचे। कई कार्यकर्ता इसे अपने हाथों में उठाकर लहराते हुए सभा स्‍थल पर आए तो मौजूद हर व्‍यक्ति ने उठकर तिरंगे को प्रणाम किया, साथ ही सेल्‍फी भी खींची। तिरंगा जहां से भी गुजरा, वहां लोग उठकर केवल इसे ही देखने लगे।

जेएनयू और एएमयू जैसा नहीं चलेगा

अलीगढ़ के सांसद सतीश गौतम ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि जेएनयू और एएमयू जैसा देश में नहीं चलेगा। देश का बेटा ही देश की सेवा कर सकता है। विदेशी क्‍या जानें, मातृभूमि से प्रेम। ये बात उन्‍होंने कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी को निशाना बनाते हुए कही और जयश्री राम के नारे सभा स्‍थल पर लगवाए। 

कांग्रेसियों को कर दिया नजरबंद

वरिष्ठ कांग्रेस जन संघर्ष समिति ने काले गुब्बारे उड़ाकर इस सभा का विरोध करने का ऐलान किया था। पुलिस प्रशासन ने किसी भी टकराव या विरोध को रोकने के लिए गुरुवार सुबह ही कांग्रेस नेताओं को घर में ही नजरबंद कर दिया। समिति के जिलाध्यक्ष संजय शर्मा ने कहा कि देश में दो तरह के कानून चल रहे हैं, भाजपा के लिए कुछ और विपक्ष के लिए कुछ और। आगरा में धारा 144 लागू होने के बावजूद भाजपा की जनसभा इस बात को बल देती है। नदीम नूर, संजीव कुमार सिंह, रेखा मल्होत्रा, नीरज पंडित, डॉ. एसपी माथुर, इरफान कुरैशी, मोहसिन काजी, बिट्ठू पंडित व अन्य कांग्रेसियों ने विरोध जताया है।  

Posted By: Prateek Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस