आगरा, जागरण संवाददाता। ताजगंज की पा‌र्श्वनाथ पंचवटी कालोनी में रहने वाले कपड़ा व्यापारी का परिवार पड़ोसी के कुत्तों से परेशान हैं। उनका आरोप है कि ड्यूप्लेक्स की दूसरी मंजिल पर रहने वाले परिवार ने दो खूंखार कुत्ते पाल रखे हैं। उन्हें वह सीढि़यों पर छोड़ देते हैं, जिससे वे अपने फ्लैट में भी नहीं जा पाते। रेजिडेंट वेलफेयर सोसाइटी में शिकायत के बाद भी हल नहीं निकला तो उन्होंने ताजगंज थाने में मुकदमा दर्ज करा दिया है।

कपड़ा व्यापारी वीरेश यादव ने बताया कि वह ड्यूप्लेक्स के भूतल और प्रथम तल पर रहते हैं। द्वितीय तल पर विजेंद्र सिंह और मनमीत परिवार के साथ रहते हैं। उन्होंने अमरिकन बुली और पिट बुल ब्रीड के दो कुत्ते पाल रखे हैं। ये कुत्ते छत और सीढि़यों पर खुले रखे जाते हैं। वीरेश के घर में पांच और दस वर्ष के बच्चे हैं। वे कुत्तों के डर से छत और अपने फ्लैट में नहीं जा पाते हैं। इसकी शिकायत कई बार देखरेख करने वाली कंपनी और पंचवटी रेजीडेंट्स वेलफेयर एसोसिएशन से की।

चार दिसंबर 2021 को पड़ोसी से इस बारे में कहा तो उन्होंने मारपीट कर दी। जान से मारने की धमकी भी दी। इसकी शिकायत एसएसपी से 28 दिसंबर 2021 से की। वीरेश का कहना है कि 31 दिसंबर को पड़ोसी ने अपने कुत्तों को सीढि़यों पर छोड़ दिया था। उस समय उनके आफिस जाने का समय हो रहा था। कार चालक प्रमोद उनको लेने आया था। तभी उसे और एक अन्य को कुत्ते ने काट लिया। इस घटना के बाद से वीरेश का परिवार दहशत में है। उन्हें अपने फ्लैट से निकलने में भी डर लग रहा है। पीड़ित ने कार्रवाई की गुहार लगाई। इसके बाद ताजगंज थाने में शुक्रवार को मुकदमा दर्ज हुआ।

इंस्पेक्टर ताजगंज भूपेंद्र कुमार बालियान का कहना है कि विजेंद्र सिंह और मनमीत सिंह के खिलाफ मारपीट, जान से मारने की धमकी देने व जीवजंतु के संबंध में उपेक्षापूर्ण आचरण करने की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी। दोनों आरोपितों का कहना है कि वह अपनी सुरक्षा के लिए कुत्ते पालते हैं। छत और फ्लैट में आने जाने से रोकने का उनका कोई उद्देश्य नहीं है।

Edited By: Jagran