आगरा, जागरण संवाददाता। आगरा में पिनाहट थाने से दो सौ मीटर दूर मोहल्ला मारू में दो सौ वर्ग गज का दो मंजिला मकान। कोने के मकान के दो साइड रास्ता है। मकान के दाहिनी ओर के रास्ते की ओर की दीवार पर प्लास्टर नहीं है। माना जा रहा है बदमाश इसी साइड की दीवार से प्रथम तल पर चढ़े होंगे। वारदात करने के बाद वे मुख्य द्वार से भाग गए। घर में एंट्री की दूसरी आशंका यह है कि वारदात में कोई परिचित शामिल रहा हो।

घर से लूटपाट के बाद काफी देर में पहुंचे पुलिसकर्मी

पिनाहट के मोहल्ला मारू में व्यवसायी सुरेश चंद्र गुप्ता और उनकी पत्नी कृष्णा गुप्ता की हत्या और घर से लूटपाट के बाद पुलिस अधिकारी काफी देर तक मौके पर डटे रहे।एसपी पूर्वी सोमेंद्र मीणा ने बताया कि व्यापारी के घर में किसी प्रकार के संघर्ष के निशान नहीं मिले हैं। इसलिए माना जा रहा है कि या तो बदमाशों ने सोते समय दोनों को दबोच लिया। या बदमाशों के साथ कोई परिचित घर में आया हो। दाेनों पहलुओं पर जांच चल रही है।

घर में जीने पर एक लोहे का गेट लगा था। यह मुड़ा हुआ था। आशंका है कि बदमाश दीवार से चढ़कर प्रथम तल पर पहुंचे। वारदात के बाद इस गेट को मोड़कर वे नीचे उतरे और मुख्य गेट से चले गए। स्थानीय लोगों ने पुलिस को बताया कि रात को बारिश हो रही थी। बिजली चली गई थी।

प्रथम तल पर मिले थे शव

गर्मियों ने ज्यादातर ग्रामीण मकान की ऊपरी मंजिल पर ही सोने जाते हैं। वहां हवा ज्यादा लगती है। सुरेश चंद्र गुप्ता के घर का भूतल पूरी तरह से कवर्ड है। प्रथम तल पर केवल तीन कमरे बने हैं। क्षेत्रीय लोगों ने पुलिस को बताया कि सुरेश चंद्र गुप्ता बहुत सतर्कता से रहते थे। वे शाम को घर आने के बाद बाहर नहीं निकलते थे। किसी परिचित के आने पर ही गेट खोलते थे। पुलिस को रसोई में बर्तन साफ मिले हैं। माना जा रहा है कि पति-पत्नी ने खाना खा लिया था।बर्तन साफ करने के बाद कृष्णा गुप्ता सोने गई होंगी। पुलिस को रसोई में कपड़े में लिपटी चार रोटियां मिलीं। मामले की तह तक पहुंचने के लिए एक टीम कस्बे में लगे सीसीटीवी कैमरे खंगाल रही है।

पोस्टमार्टम के बाद समय का होगा अंदाजा

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यह पता चलेगा कि हत्या लगभग किस समय हुई है। पुलिस को शव अकड़े हुए मिले थे। शव देखकर अंदाजा लगाया जा रहा था कि वारदात मध्य रात्रि के समय की है।दोनों के कपड़े भीगे हुए थे। पास में एक खाली जग पड़ा था। यह आशंका है कि जग से पानी फैलने पर उनके कपड़े भीगे हों। या पति-पत्नी बचाव को कमरे से बाहर गए हों। बारिश में वे भीग गए हों।

मोहल्ले में लूट के दौरान दूसरी हत्या

माेहल्ला मारू में लूट के दौरान हत्या की यह दूसरी वारदात हुई। इससे पहले 24 नवंबर 2020 को कपड़ा व्यवसायी वीरेन्द्र गुप्ता की पत्नी वीरवती (65) की दिनदहाड़े घर में घुसकर हत्या की गई थी। बदमाश 25 लाख रुपये के सोने के आभूषण व चार लाख रुपये नकद लूटकर ले गए थे। किराना व्यापारी से लूटा था थैलाकरीब 15 दिन पूर्व मोहल्ला मारू निवासी सुभाष चंद गुप्ता के साथ लूट की वारदात हुई थी। वह दुकान बंद करके अपने घर जा रहे थे। रास्ते में बदमाश उनका थैला लूटकर ले गए थे। पीड़ित व्यापारी ने थाने में तहरीर दी थी। आरोप है कि अभी तक पुलिस ने इस मामले में भी कुछ नहीं किया है।

भाई के बेटों से चल रहा विवाद

सुरेश चंद गुप्ता छह भाई थे। संतोषी लाल, सुरेश, राजेंद्र, सत्यप्रकाश, विजय व अशोक। संतोषी लाल और विजय की पहले ही मृत्यु हो चुकी है। सुरेश को बदमाशों ने मार डाला। घटना के बाद सुरेश चंद गुप्ता के बेटे ने एक दुकान के विवाद का जिक्र किया। यह विवाद उनका चचेरे भाइयों से चल रहा है। पुलिस इस बिंदु पर भी जांच कर रही है।

बदमाशों के निशाने पर बुजुर्ग कारोबारी

- 27 जनवरी 2020 को शमसाबाद में सराफा कारोबारी मुकलेश गुप्ता और उनकी पत्नी की हत्या कर बदमाशों ने 11 किलोग्राम सोने और 24 किलोग्राम चांदी के गहने और 13 लाख रुपये लूट लिए थे।इस घटना में दो बदमाशों को गिरफ्तार कर पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया।

- 12 अप्रैल को हरीपर्वत के फ्रीगंज स्थित एक अपार्टमेंट में रहने वाले बुजुर्ग कारोबारी किशन गोपाल अग्रवाल की हत्या कर लूटपाट की गई थी। इस घटना में एक महिला समेत अन्य आरोपितों को गिरफ्तार कर पुलिस ने जेल भेजा था।

- 5 जनवरी 2015 को कोतवाली थाना क्षेत्र के कंपू टोला निवासी 60 वर्षीय व्यापारी हरीश अग्रवाल और उनकी पत्नी 55 वर्षीय ललिता देवी की हत्या कर दी गई।वे घर में अकेले रहते थे।

- 16 नवंबर 2015 को हरीपर्वत क्षेत्र में खंदारी कालोनी में बुजुर्ग जूता कारोबारी अवनीश ग्रोवर और उनकी पत्नी ऊषा ग्रोवर की हत्या कर बदमाशों ने लूटपाट की। इस घटना का अब तक पर्दाफाश नहीं हुआ। 

ये भी पढ़ें...

Agra News: बुजुर्ग व्यवसायी दंपती की हत्या कर 30 लाख की लूट, घटना के बाद बाजार बंद

Edited By: Abhishek Saxena