आगरा, जागरण संवाददाता। बहन पूनम चौधरी की हत्या के बाद निक्कू चौधरी ने शहर से भागने के लिए दो वाहनों का प्रयाेग किया था। व्यस्त इलाके से भागने के लिए उसने बाइक की मदद ली थी। जबकि शहर से बाहर जाने के लिए कार का प्रयोग किया था। पुलिस को हत्याकांड के बारे में अहम सुराग मिले हैं। उसकी मदद करने वाले छह लोग पुलिस के रडार पर हैं।

पूनम की हत्या और भाभी को मारी गोली

पुलिस की छानबीन में पता चला कि पूनम की हत्या और भाभी को गोली मारकर घायल करने के बाद निक्कू चौधरी घर के पीछे वाली गली से होकर भागा था। जहां से वह रूई की मंडी रेलवे फाटक की ओर निकला था। सूत्रों के अनुसार हत्या के बाद निक्कू ने एक परिचित को फोन किया था। उसे रूई की मंडी पर बुलाया था। वहां से वह बाइक पर गया था। जिसके बाद सदर क्षेत्र में पहुंचने के बाद वह एक कार में सवार हुआ था। जिसके बाद वह कहां गया, पुलिस को उसका सुराग नहीं मिला है। वह हत्यारोपित के भागने का रूट जानने का प्रयास कर रही है।

काल डिटेल में मिले कई अहम सुराग

पुलिस ने आरोपित की काल डिटेल खंगाली हैं। जिससे कई अहम जानकारी हाथ लगी हैं। फिलहाल छह लोग पुलिस के रडार पर हैं। ाजो हत्याकांड से पहले और बाद में उसके साथ थे। पुलिस अब इन छह लोगों के बारे में जानकारी जुटा रही है।

रात में हुआ अंतिम संस्कार

पुलिस ने पूनम के शव का शनिवार की रात को ही पोस्टमार्टम करा दिया था। जिसके बाद उसके शव को घर लाया गया। परिवार के लोगों ने रात में ही उसका अंतिम संस्कार कर दिया। इधर, हत्याकांड के बाद निक्कू के घर के बाहर बना बाजार रविवार को भी नहीं खुला था। निक्कू की बुआ निर्मला सिंह ने दोपहर लगभग 12 बजे दुकानदारों से बातचीत की। जिसके बाद पूरा बाजार खुल गया।

ये भी पढ़ें...

Agra News: गोली मारकर बहन की हत्या, विधवा भाभी को भी मारना चाहता था हत्यारोपित, दुकान के शटर ने बचाई जान 

ये भी पढ़ें...

Agra Crime News: दिन दहाड़े गोली मारकर युवती की हत्या, भाई ने ही संपत्ति के विवाद में चलाईं ताबड़तोड़ गोलियां

Edited By: Abhishek Saxena

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट