आगरा, जागरण संवाददाता। मुंहबोले भाई ने युवती को अपने जाल में फंसा लिया। पांच महीने पहले बहकाकर अपने साथ ले गया। बंधक बनाकर दुष्कर्म किया। दोस्तों के सामने परोसने की भी कोशिश की। युवती ने विरोध किया तो उसे यातनाएं दीं। दो लाख रुपये में अपना सौदा करने की भनक लगने पर युवती आरोपित के चंगुल से किसी तरह भाग निकली। शनिवार को एत्माद्दौला थाने पहुंचकर उसने तहरीर दी।

मामला एत्माद्दौला क्षेत्र का है। करीब एक साल पहले फीरोजाबाद के नारखी का रहने वाला युवक, युवती की बस्ती में किराए पर रहता था। वह युवती के रिश्तेदारों के संपर्क में था, इस नाते से युवती उसे भाई कहती थी। चूंकि वह अकेला रहता था, सो युवती के स्वजन ने उसे अपने घर पर ही खाना खाने की कह दिया था। इससे युवक ने घर पर आना शुरू कर दिया। उसने युवती को जाल में फांस लिया। करीब एक साल पहले स्वजन ने युवती का रिश्ता कहीं और तय कर दिया। शादी के कार्ड भी छप गए, मगर कोरोना संक्रमण के चलते शादी टल गई। करीब छह महीने पहले युवती के स्वजन को दोनों के संबंधों का पता चला तो उन्होंने विरोध किया। मामला थाने पहुंचने पर युवती ने स्वजन के साथ जाने से मना कर दिया। वह युवक के साथ चली गई। इससे क्षुब्ध स्वजन ने उससे रिश्ता तोड़ लिया।

शनिवार को युवती बदहवास हालत में घर पहुंची। स्वजन को मुंहबोले भाई द्वारा दी गई यातनाओं की जानकारी दी। आरोपित दो लाख रुपये में उसका सौदा कर रहा था। पीड़िता ने शनिवार को स्वजन के साथ थाने पहुंचकर आरोपित के खिलाफ तहरीर दी है।

Edited By: Jagran