आगरा, जागरण संवाददाता। पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के निधन की सूचना से आगरा में भी शोक की लहर दौड़ गई। पुराने नेताओं से लेकर छोटे कार्यकर्ता तक उनकी सौम्यता, सरलता और संगठन निष्ठ होने की चर्चा कर रहे थे। वर्ष 1988 में कोठी मीना बाजार मैदान में हुए राष्ट्रीय अधिवेशन की भी वे गवाह बनी थी। अधिवेशन स्थल से अटल बिहारी वाजपेयी और लाल कृष्ण आडवाणी खुली जीप में सवार होकर आंबेडकर मैदान तक गए थे। यहां सुषमा स्वराज का भी वक्तव्य हुआ था।
वर्ष 1996 के लोकसभा चुनाव में भगवान शंकर रावत के लिए शाहगंज में जनसभा करने आई थीं। इसके बाद भी उनके कई दौरे हुए, लेकिन सुषमा स्वराज का अंतिम बार आगरा आगमन आठ अप्रैल 2019 को हुआ था। वे लोकसभा चुनाव के तहत सींगना में विजय संकल्प साइबर योद्धा कार्यक्रम में शिरकत करने आई थीं। कार्यक्रम में पांच घंटे से अधिक देरी से पहुंचने पर उन्होंने उद्बोधन से पहले हाथ जोड़ देरी के लिए क्षमा मांगी थी। इसके बाद कार्यकर्ताओं को सोशल मीडिया को हथियार बनाने के तरीके सिखाए थे। राष्ट्र रक्षा शिविर में किया था प्रदर्शनी का उद्घाटन सुषमा स्वराज बतौर केंद्रीय मंत्री वर्ष 2001 में शास्त्रीपुरम में हुए आरएसएस के राष्ट्र रक्षा शिविर में शिरकत करने आई थीं। शिविर सुरक्षा प्रमुख के रूप में तत्कालीन बजरंग दल प्रांत सह संयोजक और वर्तमान भाजपा जिलाध्यक्ष श्याम भदौरिया थे। उन्होंने बताया कि केंद्रीय मंत्री होने के बाद स्वराज भी हर छोटे कार्यकर्ता से संवाद कर उसका मन जीत लेती थीं। इस शिविर में 75 हजार से अधिक स्वयंसेवक एकत्र हुए थे। जब घर से बुलवाया महानगर अध्यक्ष को वर्ष 1998 में सुषमा स्वराज एक सामाजिक संगठन के कार्यक्रम में शिरकत करने आगरा आई, तो वहां उन्हें भाजपा संगठन पदाधिकारी नहीं दिखे। उन्होंने आयोजकों से इस बारे में पूछा तो वे कोई जवाब नहीं दे सके। इसके बाद उन्होंने महानगर अध्यक्ष को बुलवाने के लिए कहा। तत्कालीन महानगर अध्यक्ष और वर्तमान विधायक पुरुषोत्तम खंडेलवाल को आयोजकों ने घर से बुलवाया था। लोकसभा चुनाव में मुझे उनका आशीर्वाद मिला था, वे सींगना में कार्यक्रम करने आई थीं। उनका कार्यकर्ताओं से विशेष स्नेह था। पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के रूप में पार्टी ने एक स्तम्भ खो दिया है।
फतेहपुरसीकरी के सांसद राजकुमार ने कहा कि
सुषमा स्वराज की सरलता और स्नेह से हर कार्यकर्ता उनसे निकट से जुड़ा था। कई कार्यक्रमों में उनके साथ रहने का अवसर मिला। सदैव उन्होंने नई ऊर्जा का संचार किया। भाजपा जिलाध्‍यक्ष श्याम भदौरिया ने कहा सुषमा स्वराज के निधन से जो क्षति हुई है, उसकी भरपाई नहीं की जा सकती है। वे सरल स्वभाव और कुशल नेतृत्व क्षमता की धनी थीं।

स्वाधीनता सेनानी करुणेश को नमन सीडी का किया था लोकार्पण
कुशल राजनीतिज्ञ, प्रखर वक्ता तत्कालीन केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री सुषमा स्वराज ने स्वाधीनता संग्राम सेनानी व हार्डी बम कांड के क्रांतिकारी स्व, रोशनलाल गुप्त करुणेश के क्रांतिकारी जीवन पर आधारित सीडी का लोकार्पण किया था। मून टीवी नेटवर्क द्वारा तैयार की गई इस सीडी की उन्होंने तारीफ की और करुणेश जी को नमन करते हुए श्रद्धांजलि दी थी।
इस सीडी को मून टीवी के निदेशक राहुल पालीवाल के निर्देशन में सम्पादक राजीव दीक्षित ने किया था। अब वह नमन यू ट्यूब पर भी है।
यह लोकार्पण ताज प्रेस क्लब द्वारा 6 दिसम्बर 2003 को आयोजित पद्मश्री गोपालदास नीरज के 80 वे जन्मोत्सव गौरव महोत्सव का एक हिस्सा था। इस महोत्सव में केसरीनाथ त्रिपाठी, प्रो अगम प्रसाद माथुर, कवि नीरज जी, समाजसेवी धर्मपाल विद्यार्थी व अन्य मंचासीन थे।

 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप