आगरा, जागरण संवाददाता। रविवार को सर्वार्थ सिद्धि योग पर यातायात पुलिस की सड़कों पर बैंड-बाजा और बरात न निकलने की पाबंदी का असर नहीं हुआ। फतेहाबाद रोड, सिकंदरा, बोदला, कमला नगर और यमुनापार में बैंड-बाजा-बरात सड़कों पर ही निकले। फतेहाबाद रोड पर होटल व बैंक्वेट हाल के बाहर गाड़ियां सड़क पर ही खड़ी मिलीं। इस कारण इन जगहों पर दोपहर और फिर रात को ट्रैफिक जाम हो गया और यातायात पुलिस की व्यवस्था फेल नजर आई। बोदला और यमुनापार में रात नौ से 12 बजे तक जाम रहा। हाईवे पर रात नौ से दस बजे तक लोगों को दिक्कत झेलनी पड़ी।

फतेहाबाद रोड पर यातायात पुलिस ने होटलों व बैंक्वेट हाल के बाहर गाड़ी पार्क नहीं करने की हिदायत जारी की थी। एसपी यातायात के निर्देश पर सीओ ताजगंज की ओर इस बाबत होटल संचालकों को हिदायत भी जारी की गई थी। बैंड-बाजा के साथ बरात न निकलने को भी कहा गया था पर इसका असर रविवार को नजर नही आया, जिस कारण इस सड़क पर जाम लगा। चौराहे पर पुलिस जाम से जूझती रही। शाम को सात बजे जाम की सूचना पर एसपी सिटी विकास कुमार मौके पर पहुंचे। उन्होंने किसी तरह प्रतापपुरा चौराहे पर जाम खुलवाया पर आईटीसी होटल की ओर जाने वाले मार्ग पर जाम लग गया। बाद में वह वहां जाम खुलवाने पहुंचे। इसी बीच बोदला रोड पर जाम की सूचना मिली। कभी आगरा-मथुरा हाईवे पर सिकंदरा, आइएसबीटी, खंदारी तो कभी यमुना पार जाम लगा तो कभी सुल्तानगंज की पुलिया के पास जाम लगा।

बोदला में आवास विकास कालोनी सेक्टर-दो निवासी संजीव माहेश्वरी भी जाम में फंस गए। उन्होंने बताया कि वह भी शादी समारोह में आए थे। फतेहाबाद रोड स्थित बैंक्वेट हाल से निकलते ही ट्रैफिक जाम मिला। दो घंटे लग गए घर पहुंचने में, जबकि रास्ता 30 मिनट का ही है। कमला नगर में शरद कपूर ने बताया कि रात में बरात चढ़ने के कारण जाम लगा। वह बल्केश्वर से अपने रिश्तेदार के यहां से घर आ रहे थे। रिश्तेदार के यहां से घर का रास्ता मात्र दस मिनट का था पर रविवार को उन्हें करीब 40 मिनट लगे। गूंजी शहनाई, 500 दिल मिले

रविवार को जिला में विभिन्न स्थानों पर वैवाहिक आयोजन हुए। करीब 500 दिल एक-दूजे के हुए। यूपी वेडिग इंडस्ट्री एसोसिएशन के समन्वयक मनीष अग्रवाल का कहना है कि सर्वार्थ सिद्धि योग विवाह व खरीदारी के लिए अच्छा मुहूर्त माना जाता है, इसलिए रविवार को सहालग सीजन मे सर्वाधिक शादियां हुई। होटल, फार्म हाउस, बैंक्वेट हाल, धर्मशाला आदि बुक रहे। केटरिग, घोड़े- बग्गी, पार्लर, डेकोरेटर्स कारोबारी व्यस्त नजर आए। 100 से अधिक होटल में शादियां होती नजर आईं। दूसरी ओर, बाजारों में भी रौनक रही। सोने की बिक्री हो रही से कारोबारियों के चेहरों पर भी चमक लौटी है। सहालग में अभी तक करीब 350 करोड़ का कारोबार हो चुका है। कारोबारियों को इस विवाह सीजन में 800 करोड़ के कारोबार की उम्मीद हैं। किनारी बाजार, नमक की मंडी, एमजी रोड आदि स्थानों पर ज्वेलर्स के यहां हीरा, सोना और चांदी सभी तरह के आभूषण खरीदे गए। सोने में एंटीक और पोलकी ज्वेलरी व टेंपल कलेक्शन को काफी पसंद किया गया। हल्के वजन के डायमंड स्पेशल गहने खूब पंसद किए गए। आटोमोबाइल, सराफा, इलेक्ट्रानिक्स, लहंगा, साड़ियां, इंडो वेस्टर्न से लेकर पारंपरिक शेरवानी की खूब बिक्री हुई। होटल, फार्म हाउस, केटरिग, घोड़े- बग्गी, पार्लर, डेकोरेटर्स कारोबारी व्यस्त नजर आए।

Edited By: Jagran