जागरण टीम, आगरा। फतेहपुर सीकरी के मंगोली कलां में सेना की तैयारी कर रहे 18 वर्षीय अर्चित पचौरी की हत्या के मामले में पुलिस अब तक कोई सुराग नहीं तलाश सकी है। सोमवार को राज्यमंत्री चौधरी उदयभान सिंह ने स्वजन को ढांढस बंधाया और एसपी पश्चिम सत्यजीत गुप्ता से केस की प्रगति की जानकारी ली। उन्होंने एसपी पश्चिम को तीन दिन के भीतर केस का पर्दाफाश करने के निर्देश दिए। राज्यमंत्री ने स्वजन से धैर्य रखने को कहा। उन्होंने कहा कि पुलिस शीघ्र आरोपितों को गिरफ्तार कर लेगी। वहीं राज्यमंत्री ने दूरा गांव में पहुंचकर छत्रपाल के स्वजनों को भी ढांढस बंधाया। छत्रपाल उर्फ छोटू की मौत रविवार सुबह बिजली के तार की चपेट में आकर हुई थी। राज्यमंत्री ने केस की जांच के बाद निष्पक्ष कार्रवाई का भरोसा दिया। नीरज शुक्ला, टीटू चौधरी, ललित चौधरी मौजूद रहे। दहेज हत्या के आरोपितों पर दबाव बनाने का आरोप

जागरण टीम, आगरा। दहेज हत्या के केस में नामजद ससुरालीजनों की गिरफ्तारी 26 दिन बाद भी नहीं हो सकी है। पीड़ित पक्ष का आरोप है कि उन्हें धमकी देकर केस में समझौते का दबाव बनाया जा रहा है।

बसई अरेला के गांव सबोरा निवासी हसन खां ने अपनी बेटी सुनीता का विवाह 21 नवंबर 2020 को बाह के बिजौली निवासी शाहिद खां के साथ किया था। 26 दिन पूर्व सुनीता का शव ससुराल में फंदे पर लटका मिला। उनके पिता हसन खां ने पति शाहिद, भूरे खां, शाहजहां, साजिद खां, समीना, सलीम खां, नत्थू खां के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कराया। हसन खां का आरोप है कि अब तक आरोपित नहीं पकड़े गए हैं। आरोप है कि उन्हें फोन और वाट्सएप के माध्यम से केस में समझौता करने की धमकियां दी जा रही हैं। पीड़ित ने फरार आरोपितों को जल्द गिरफ्तार करने की मांग की है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप