आगरा, जागरण संवाददाता। कोरोना से देशभर में लॉक डाउन की स्थित है। इसे देखकर तमाम कंपनियां अपने कर्मचारियों को वर्कफ्रॉम होम की सुविधा दे रही हैं, लेकिन पूरी टीम से एकसाथ संवाद में वहां भी दिक्कत आ रही हैं। ऐसे में कुछ एप उनके काम को आसान कर रहे हैं।

आइटी एक्सपर्ट विकास भारद्वाज बताते हैं कि कोरोना इफेक्ट ने वीडियो एप का प्रोफेशनल यूज बढ़ा दिया है। कॉलेज, कोचिंग के साथ ऑफिस के काम में भी इनका इस्तेमाल हो रहा है। लोग इनकी मदद से घर से काम कर रहे हैं। साथ ही इनके माध्यम से परिवार से दूर बैठे लोग अपनों के लगातार संपर्क में भी हैं।

यह एप हुए लोकप्रिय

स्काइप

वीडियो कांफ्रेंसिंग के लिए स्काइप एप का इस्तेमाल सबसे ज्यादा किया जा रहा है। इसे पसंद किए जाने का एक कारण यह भी है कि डेस्कटॉप और एंड्राइड दोनों वर्जन मौजूद हैं।

क्लिक मीटिंग

मीटिंग के लिहाज से यह सबसे मुफीद वीडियो कांफ्रेंसिंग एप है। हालांकि यह छोटे ग्र्रुप की मीटिंग के लिहाज से ज्यादा कारगर है। क्योंकि इसमें आप सिर्फ चार एक्टिव वीडियो फीड कर सकते हैं।

सिसको वेबएक्स मीटिंग

इसके स्पेशल फीचर इसे आम वीडियो कांफ्रेंसिंग सर्विस से अलग खड़ा करते हैं। इसमें आप खुद को शेयरिंग करने के लिए कॉल सेटअप कर सकते हैं। इसके फ्री प्लान में व्हाइटबोर्ड फीचर भी शामिल है।

वाट्सएप कॉल

यह आज सबसे आम हो चुकी है। इसके करोड़ों यूजर भी हैं। इसमें इंड टू इंड इंपिक्रपटेड है। साथ ही लो इंटरनेट स्पीड में भी इसका काम बेहतर होता है।

स्लैक चैट

इस एप में आपको एक साथ तीन ऑप्शन मिलते हैं। डायरेक्ट मैसेज, प्राइवेट चैनल और पब्लिक चैनल जेनरेट कर सकते हैं। साथ ही स्लैक पर यूजर्स को कीवर्ड सर्च जैसे फीचर भी मिलते हैं। इस कारण से पिछले कुछ सालों में स्लैक आफिस वर्क में लोकप्रिय हुआ है।

गूगल हैंगआउट्स

गूगल का ये पुराना, लोकप्रिय और विश्वसनीय फीचर है, जो वर्क फ्रॉम होम में काफी मददगार साबित हो रहा है। इसमें टीम मेंबर्स जी स्यूट भी प्रयोग कर सकते हैं। साथ ही यूजर्स गूगल डॉक और गूगल शीट को भी शेयर कर सकते हैं। 

Posted By: Prateek Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस