आगरा, जागरण संवाददाता। अग्निपथ योजना को लेकर युवाओं को भड़काने के लिए वाट्सएप पर इंकलाब जिंदाबाद ग्रुप सेना के एक जवान ने बनाया था। जवान वर्तमान में पंजाब में तैनात है। वह मूल रूप से राजस्थान के करौली के मांड़ई गांव का रहने वाला है। आगरा पुलिस गैर जमानती वारंट लेकर पंजाब से उसे गिरफ्तार करके ला रही है।

मलपुरा क्षेत्र में ग्वालियर हाईवे पर 17 जून को अग्निपथ योजना के विरोध में युवाओं ने हंगामा किया था। इस दौरान उन्होंने हाईवे पर जाम लगाकर मलपुरा ऐसो की गाड़ी में तोड़फोड़ कर दी थी। इस मामले में पुलिस ने अपनी ओर से बलवा पथराव लोक व्यवस्था भंग करने व अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था। में 13 लोग नामजद और 35 अज्ञात शामिल थे। आठ जवानों को मौके से गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद पुलिस ने सादाबाद निवासी अभिषेक को भी गिरफ्तार किया। उसके मोबाइल से पुलिस को व्हाट्सएप ग्रुप की जानकारी हुई थी। इंकलाब जिंदाबाद नाम के वाट्सएप ग्रुप से करीब 300 लोग जुड़े हुए थे। इसमें 20 से 25 ग्रुप एडमिन भी थे। पूछताछ में पुलिस को जानकारी हुई के मुख्य ग्रुप एडमिन राजस्थान के करौली के मांड़ई गांव निवासी गुमान सिंह है। गुमान सिंह सेना में पंजाब के फाजिल्का जनपद में सेना की यूनिट में लांस नायक पद पर तैनात था। गुमान सिंह के खिलाफ कोर्ट से 26 जून को गैर जमानती वारंट जारी हुए थे। इधर आगरा पुलिस की रिपोर्ट के बाद सेना ने जवान से पूछताछ की थी। मंगलवार को आगरा पुलिस की टीम ने पंजाब से सेना के जवान गुमान सिंह को गिरफ्तार कर लिया। अब उसे लेकर पुलिस की टीम आगरा रही है। एसपी पश्चिम सत्यजीत गुप्ता ने बताया कि गुमान का भाई सेना की परीक्षा दे चुका था। उसका अब सेना में सेलेक्शन ना होते देखकर अब आकर में वाट्सएप ग्रुप बनाकर युवाओं को भड़काया था। उसे आगरा लाया जा रहा है। 

Agnipath Scheme Protest: अग्निपथ योजना को लेकर फैलाई जा रहीं कई अफवाह, जानिए- क्‍या है सच्‍चाई

Edited By: Tanu Gupta