आगरा, जागरण संवाददाता। डा. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय में इस सत्र में प्रवेश उम्मीद से भी कम हुए हैं। विश्वविद्यालय के स्नातक और परास्नातक पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए वेब रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया पिछले साल नवंबर में ही समाप्त कर दी गई थी। लेकिन विश्वविद्यालय के संस्थानों और संबद्ध कालेजों में प्रवेश लेने वाले छात्रों की संख्या कम रही है, इसलिए वेब पंजीकरण एक बार फिर संबद्ध कालेजों में प्रवेश के लिए 19 जनवरी तक के लिए खोल दिए गए हैं। स्नातक और परास्नातक स्तर पर कुल 280973 छात्रों ने वेब पंजीकरण कराया था। 189261 छात्रों ने कालेजों में रिपोर्ट किया लेकिन प्रवेश 155873 ने ही लिया।

अब तक की स्थिति

स्नातक

कुल वेब पंजीकरण- 237066

फीस भरी- 219766

फार्म भरे- 216317

रिपोर्ट- 168152

एडमिट- 140889

परास्नातक

कुल वेब पंजीकरण- 43907

फीस भरी- 40098

फार्म भरे- 38730

रिपोर्ट- 21109

एडमिट- 14984

कोरोना और परिणाम रहे कारण

स्नातक व परास्नातक स्तर पर कालेजों में प्रवेश कम होने के पीछे दो मुख्य कारण रहे। स्नातक स्तर पर बारहवीं के पुन: परीक्षा के परिणाम काफी देरी से निकले। इस कारण छात्र वेब पंजीकरण कराने के बाद प्रवेश के लिए नहीं पहुंच पाए। परास्नातक स्तर पर भी यही वजह रही। विश्वविद्यालय ने दिसंबर तक कई विषयों के परिणाम जारी किए हैं। दूसरा कारण कोरोना है, कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच छात्र कालेज आने से बचते रहे।प्रवेश समवन्यक प्रो. मनुप्रताप सिंह ने बताया कि कोरोना के कारण छात्र कालेज न हीं पहुंचे। उससे पहले जो काम आनलाइन हो सकता था, वो कर लिया। प्रवेश के लिए कालेज जाना ही पड़ेगा। 

Edited By: Tanu Gupta