आगरा: कपड़ा शोरूम में काम करने वाले एक युवक के क्रेडिट कार्ड को साइबर शातिरों ने निशाना बना लिया। ओटीपी पूछकर उसने खाते से 49 हजार रुपये पार कर लिए। पीड़ित ने साइबर सेल में मामले की शिकायत की है।

हरीपर्वत क्षेत्र में एमजी रोड स्थित एक कपड़ा शोरूम में काम करने वाले युवक ने दो माह पहले स्टेट बैंक से क्रेडिट कार्ड बनवाया था। बुधवार को युवक के मोबाइल पर अंजान नंबर से कॉल आई। कॉल करने वाले ने खुद को स्टेट बैंक ऑफ इंडिया का कर्मचारी बताया। उसने कहा कि वह क्रेडिट कार्ड डिपार्टमेंट से बोल रहा है। आपको बोनस प्वाइंट मिले हैं। ये बेकार जा रहे हैं। कुछ जानकारी देनी पड़ेगी। इसके बाद आपको 10-11 हजार रुपये का लाभ हो जाएगा। वे शातिर के जाल में फंस गए और जानकारी दे दी। शातिरों ने उनसे डिटेल हासिल कर क्रेडिट कार्ड की लॉगिन आइडी खोल ली और बैंक को एसएसएस अलर्ट के लिए मोबाइल नंबर बदलने की रिक्वेस्ट की। इसका ओटीपी भी कार्ड धारक से पूछने के बाद ऑन लाइन 49 हजार रुपये पार कर लिए। बैंक से कॉल आने पर उन्हें इसकी जानकारी हुई। इसके बाद गुरुवार को उन्होंने मामले की शिकायत साइबर सेल में कर दी। अब साइबर सेल मामले की जांच कर रही है।

बरतें सावधानी

- अपने डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड की जानकारी किसी को न दें।

- बैंक से कभी किसी ग्राहक को कॉल कर ओटीपी नहीं पूछा जाता। इसलिए यह भी किसी को न बताएं।

- किसी अंजान कॉल पर भरोसा कर उसके झांसे में न फंसें।

Posted By: Jagran