आगरा, जागरण संवाददाता। दिनभर से पसीने से तरबतर शरीर और आंखें आसमान की ओर। बादल भी जैसे सब्र का इम्तिहान ले रहे हों। ताजनगरी तक आने से पहले ही मानसून रास्‍ता भटक गया है। साेमवार शाम आई थोड़ी देर की बरसात ने ताजनगरी में उमस का स्‍तर बढ़ा दिया है। इसके बाद से पसीने और चिपचिपाहट के बीच हालत खराब हो चली है। इधर बुधवार को भी दिनभर बादलों की लुकाछिपी जारी रहने का अनुमान है, शाम को हो सकता है कि लोकल प्रेशर के चलते हल्‍की आंधी और बरसात हो जाए।

आगरा में बुधवार को अधिकतम तापमान 38 और न्‍यूनतम 30 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना हैैै। यूवी इंडेक्‍स अत्‍यधिक है और आर्द्रता का स्‍तर 61 फीसद पर है। इसके चलते 38 डिग्री का तापमान भी 42 डिग्री जैसी गर्माहट का अहसास करा रहा है। सुबह खबर लिखे जाने तक तापमान 34 डिग्री पर था और दोपहर दो बजे यह 38 डिग्री पर पहुंचेगा। हां, हवा जरूर कुछ राहत प्रदान करने वाली है, जो पसीने के बीच शीतल महसूस हो रही है। हाल यह है कि कूलर फेल हो चुके हैं, अब सिर्फ एसी ही राहत दे पा रहे हैं। मौसम से जुड़ी वेबसाइट वेदर.कॉम के अनुसार आगरा में पांच जुलाई को मानसून की दस्‍तक होगी। वहीं स्‍थानीय मौसम विज्ञानियों की मानें तो एक जुलाई को आंधी के साथ बौछार और दो और तीन जुलाई को बारिश होने की संभावना है।

 

Posted By: Prateek Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस