आगरा, जागरण संवाददाता। सितंबर के महीने इतना ठंडा मौसम सालाें के बाद देखने को मिल रहा है। मनाली में तापमान 22 डिग्री सेल्सियस है तो आगरा का तापमान 24 डिग्री। अधिकतम और न्यूनतम तापमान दोनाें ही सामान्य से नीचे आ चुके हैं और खास बात ये है कि दोनाें ही तापमान के बीच अंतर बहुत कम रह गया है। अमूमन ये स्थिति सर्दियाें में बनती है, जिसे कोल्ड डे कंडीशन कहा जाता है। बीते 24 घंटे में 12 मिलीमीटर बरसात दर्ज हो चुकी है। शुक्रवार को भी तेज बारिश होने का अलर्ट जारी किया गया है।

ताजनगरी के लोगों को फिलहाल वर्षा से राहत मिलने की उम्मीद नहीं है। शुक्रवार को भी बादल छाए रहेंगे और रुक-रुक कर वर्षा होती रहेगी। सितंबर में पहली बार इतनी अधिक वर्षा हो रही है। मौसम विभाग ने 26 सितंबर तक वर्षा की चेतावनी दी है। वर्षा की मुख्य वजह उत्तरी मध्य प्रदेश में कम वायु दाब का क्षेत्र बनने के कारण हो रही है। मौसम विभाग के निदेशक डा. जेपी गुप्ता का कहना है कि कम वायु दाब क्षेत्र बनना कोई नई बात नहीं है लेकिन इससे अधिक वर्षा हो रही है।

हांफ रहे नाले

शहर में 331 नाले हैं। जिसमें 21 बड़े और 15 भूमिगत नाले हैं। लगातार हो रही वर्षा से नाले भी हांफ रहे हैं। ठीक तरीके से जल निकासी न होने के कारण नाले ओवरफ्लो हो रहे हैं। इससे विभिन्न क्षेत्रों में जलभराव की समस्या खड़ी हो रही है।

जरा संभल कर, धंस सकती है रोड

जल निगम ने पेयजल योजना के तहत शाहगंज, मारुति एस्टेट, आवास विकास कालोनी सेक्टर चार, 15 व 16, बोदला, सिकंदरा क्षेत्रों में सबसे अधिक खोदाई हुई है। निगम की टीम पानी व सीवर लाइन बिछा रही है। जिन क्षेत्रों में खोदाई हो चुकी है। वहां पर अभी रोड का निर्माण नहीं हुआ है। वर्षा के चलते जलभराव हो रहा है। इससे रोड धंसने से इन्कार नहीं किया जा सकता है।

तापमान में आएगी कमी

लगातार हो रही वर्षा से शुक्रवार को दिन और रात के तापमान में तेजी से कमी आएगी। शुक्रवार को सुबह न्यूनतम तापमान सामान्य से दो डिग्री कम 24.2 डिग्री दर्ज हुआ है। वहीं गुरुवार को अधिकतम तापमान सामान्य से सात डिग्री कम 27.1 डिग्री रहा था।

Edited By: Prateek Gupta