आगरा, जागरण संवाददाता। आगरा में मौसम बदलना शुरू हो गया है। रात और सुबह दोपहिया वाहन पर ठंडक महसूस होने लगी है। दोपहर में धूप तेज होने के चलते गर्मी का अहसास हो रहा है। लेकिन अगले सप्‍ताह से दोपहर के तापमान में भी कमी आना संभावित है। अक्‍टूबर के आखिर तक आगरा का मौसम गुलाबी हो लेगा।

मौसम का मिजाज बदलने लगा है, दोपहर में तेज धूप और रात को हवा में ठंडक महसूस हो रही है। शनिवार को सुबह का तापमान सामान्य से दो डिग्री सेल्सियस अधिक दर्ज किया गया। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि दोपहर में तेज धूप निकलेगी। सुबह भी हवा में ठंडक महसूस हुई, लेकिन सात बजे के बाद धूप तेज होने लगी। नौ बजे धूप और तेज हो गई। इससे सुबह का तापमान सामान्य 21 डिग्री सेल्सियस से दो डिग्री सेल्सियस अधिक 23 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। सुबह 10 बजे के बाद धूप से गर्मी और बढ़ गई।

15 अक्टूबर के बाद दोपहर के तापमान में आएगी गिरावट

मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि अभी ऐसा ही मौसम रहेगा, 14 अक्टूबर तक सुबह और रात को ठंडक रहेगी और दोपहर में तेज धूप निकलेगी। इससे अधिकतम तापमान 35 से 36 डिग्री सेल्सियस तक रहेगा। 15 अक्टूबर से मौसम बदल जाएगा और अधिकतम तापमान में गिरावट आएगी।

मौसम में रहें सावधान, वायरल संक्रमण का खतरा

मौसम बदल रहा है, ऐसे में सावधान रहें। सरोजनी नायडू मेडिकल कालेज के बाल रोग विशेषज्ञ डा. नीरज यादव ने बताया कि इस तापमान में बदलाव हो रहा है। ऐसे में ठंडे पेय पदार्थों का सेवन करने से सर्दी जुकाम और बुखार आ सकता है। वायरल संक्रमण का खतरा भी रहेगा।

पानी का सेवन अधिक करें, पेट हो रहा खराब

गर्मी और उमस से पसीना अधिक निकल रहा है। इससे शरीर में इलेक्ट्रोलाइट की कमी हो रही है। इलेक्ट्रोलाइट की कमी होने से पेट दर्द, डायरिया और पेट संबंधी समस्या बढ गई हैं। एसएन मेडिकल कालेज के डा प्रभात अग्रवाल ने बताया कि इस मौसम में पानी का सेवन अधिक करें, नीबू शिकंजी ले सकते हैं। बाजार के खाद्य पदार्थ का सेवन करने से बचें।

मरीजों की बढ़ी संख्या

मौसम में हो रहा परिवर्तन लोगों को बीमार कर रहा है। ओपीडी और इमरजेंसी में ब्लड प्रैशर और वायरल के मरीजों की संख्या में 30 फीसद तक इजाफा हुआ है। जिला अस्पताल की ओपीडी में सबसे ज्यादा मरीज बुखार, पेट दर्द, डायरिया और ब्लड प्रेशर से संबंधित पहुंच रहे हैं। यही हाल एसएन मेडिकल कालेज की ओपीडी का भी है।

Edited By: Prateek Gupta