आगरा, जागरण संवाददाता। पांच नवंबर से लेकर नौ नवंबर तक सूरज के ठीक से आगरा में दर्शन नहीं हुए है। वजह है कि दीपावली के अगले दिन से पूरे दिन धुंध का छाया रहना। धुंध छाए रहने की वजह से अधिकतम तापमान में बड़ी गिरावट दर्ज हो रही है। ये सामान्‍य से करीब चार डिग्री सेल्सियस कम चल रहा है। इसी के चलते ठंड ने एकदम से दस्‍तक दी है। अब रात में मोटी जैकेट की आवश्‍यकता दोपहिया वाहन चलाते वक्‍त पड़ने लगी है।

आगरा में मंगलवार सुबह से ही धुंध छाई हुई है, दृश्यता कम हो गई है। 10 बजे के बाद भी धुंध में सूरज छिपा हुआ है। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि तेज हवा चलने पर धुंध छंटेगी और उसके बाद दोपहर में तेज धूप होगी। वहीं सुबह के तापमान में भी गिरावट आई है। तापमान 15 डिग्री सेल्सियस से नीचे पहुंच गया है। मंगलवार सुबह न्‍यूनतम तापमान 14.2 डिग्री आंका गया। वहीं सोमवार को अधिकतम तापमान सामान्‍य से चार डिग्री कम 26.9 डिग्री दर्ज हुआ था। इसके चलते अब पंखे चलना भी बंद हो गए हैं और दिन में भी हल्‍की जैकेट की जरूरत महसूस हो रही है। मौसम विज्ञानियों का कहना है कि अब तापमान में लगातार गिरावट दर्ज होगी।

दिसंबर और जनवरी में कोहरा

मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि दिसंबर के अंत और जनवरी के पहले सप्ताह में कोहरा पड़ेगा। इस बार घना कोहरा पड़ने की उम्मीद है। 10 से 15 दिन तक कोहरा रह सकता है। जनवरी के द्वितीय सप्ताह से कोहरा छट जाएगा और धूप निकलेगी।

15 नवंबर से डेंगू का प्रकोप होगा कम

तापमान कम होने पर डेंगू का संक्रमण फैलाने वाले वायरस मादा एडीज एजिप्टी का प्रकोप भी कम हो जाएगा। एसएन के बाल रोग विशेषज्ञ डा. नीरज यादव ने बताया कि 15 नवंबर के बाद डेंगू के केस में कमी आएगी। एडीज एजिप्टी मच्छर के लिए 20 से 35 डिग्री सेल्सियस का तापमान अनुकूल रहता है, तापमान में गिरावट आने के साथ मच्छरों का प्रकोप भी कम हो जाएगा और डेंगू केस में कमी आएगी।

Edited By: Prateek Gupta