आगरा, जागरण संवाददाता। फोरेंसिक लैब में बैचलर आफ मेडिसिन एंड सर्जरी (बीएएमएस) के 14 छात्रों के भविष्य का फैसला होगा। इन छात्रों की उत्तर पुस्तिकाओं का हाथरस के आयुर्वेदिक मेडिकल कालेज के बीएएमएस छात्र पुनीत के हस्तलेख से मिलान किया जाएगा। पुलिस ने शनिवार को पुनीत और दुर्गेश को गिरफ्तार किया था। पुनीत ने पूछताछ में कई छात्रों की उत्तर पुस्तिकाओं को लिखने की जानकारी दी है। पुलिस की विवेचना में 14 छात्र शक के दायरे में है, जिनकी उत्तर पुस्तिकाएं बदली हुई मिली थीं।

उत्तर पुस्तिका बदलने का मामला 27 अगस्त को आया था सामने

डाक्टर भीमराव आंबेडकर विवि की बीएएमएस की उत्तर पुस्तिकाएं बदलने का मामला 27 अगस्त को सामने आया था। हरीपर्वत थाने में प्राथमिकी लिखी गई है। मामले में आटो चालक देवेंद्र, डाक्टर अतुल को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। शनिवार को दो अौर आरोपित कासगंज निवासी पुनीत और जौनपुर के रहने वाले दुर्गेश ठाकुर को पुलिस ने जेल भेजा है। दुर्गेश फेल होने वाले छात्रों को अच्छे नंबरों से पास पास कराने का लालच देकर अपने जाल में फांसता था। इन छात्रों की उत्तर पुस्तिकाओं को पुनीत समेत कई लोगों से लिखवाया जाता था।

एसपी सिटी विकास कुमार ने बताया कि विवेचना में बीएएमएस के 14 छात्रों की उत्तर पुस्तिका बदली हुई मिली थीं। जिनके हस्तलेख का मिलान कराने के लिए फोरेंसिक लैब भेजा जाएंगी।

एसटीएफ कर रही मामले की जांच

मामले की जांच एसटीएफ भी कर रही है। विवि और एजेंसी के बीच में काम कराने वाले छात्र नेता राहुल पाराशर की गिरफ्तारी के भी पुलिस प्रयास कर रही है। पुनीत और दुर्गेश ससे पूछताछ में जयंत, रंजीत और अशरफ के नाम भी सामने आए हैं। 

Edited By: Tanu Gupta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट