जागरण संवाददाता, आगरा: ताजनगरी के एकमात्र पर्यटन इवेंट ताज महोत्सव में देश के नामी-गिरामी कलाकार अपनी प्रस्तुतियों से रंग जमा रहे हैं। महोत्सव में पहली बार आया सैनिक स्कूल, कपूरथला का बैंड इसकी शान बना हुआ है। इस बैंड का नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉ‌र्ड्स में भी है। पिछले 16 वर्षो से यह निरंतर राजपथ पर गणतंत्र दिवस पर मार्च कर रहा है।

ताज महोत्सव आयोजन समिति ने इस बार महोत्सव में सैनिक स्कूल, कपूरथला के बैंड को भी आमंत्रित किया है। बैंड में सातवीं से 10वीं कक्षा तक के 45 छात्र शामिल हैं। उनके साथ एनसीसी ऑफिसर एचपी शुक्ला, बैंड मास्टर रिटायर्ड इंस्पेक्टर सतीश कुमार और सीओ हवलदार संजीव कुमार आगरा आए हैं। बैंड के कैप्टन सीनियर छात्र गौरव कुमार हैं। बैंड ने ताज महोत्सव के पहले दिन शिल्पग्राम में उद्घाटन समारोह में प्रस्तुति दी थी। इसके बाद आगरा कॉलेज में सोमवार, मंगलवार को बैंड ने प्रस्तुतियां दीं। बैंड में शामिल छात्र सभी तरह के म्यूजिक इंस्ट्रमेंट सेक्सोफोन, ड्रम, डपली आदि के साथ परफोर्म करते हैं।

एनसीसी ऑफिसर एचपी शुक्ला बताते हैं कि स्कूल में तीन दशक से भी पहले बैंड की स्थापना की गई थी। बैंड को वर्ष 2002 में बड़ी पहचान मिली, तब उसे राजपथ पर गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होने का अवसर मिला। पिछले 16 वर्षो से वह निरंतर राजपथ पर गणतंत्र दिवस परेड में शरीक हो रहा है। इसके लिए बैंड को लिम्का बुक ऑफ रिकॉ‌र्ड्स में शामिल किया गया है। आज यह देश का नंबर वन बैंड है। ताज महोत्सव में प्रस्तुति पर उन्होंने कहा कि महोत्सव में पहली बार बैंड परफोर्म कर रहा है। बड़े कलाकारों के साथ बैंड को चुना जाना हमारे लिए गर्व की बात है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप